आंगनबाड़ी सहायिका कैसे बने,सैलरी क्या है Anganwadi Assistant Apply Form 2021

आंगनबाड़ी सहायिका ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | anganwadi assistant application form in hindi | anganwadi helper online application | आंगनबाड़ी सहायिका के बारे में जानकारी | आंगनबाड़ी सहायिका बनने के लिए आवेदन फॉर्म

आंगनबाड़ी सहायिका ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | anganwadi assistant application form in hindi | anganwadi helper online application | आंगनबाड़ी सहायिका के बारे में जानकारी | आंगनबाड़ी सहायिका बनने के लिए आवेदन फॉर्म

आंगनबाड़ी सहायिका–इस आर्टिकल में हम आपको आज ये जानकारी देने वाले है की आंगनबाड़ी सहायिका पद क्या होता है उसके आवेदन के लिए क्या करना होता है इसकी सैलरी क्या होती है जिसे वेतन भी कहा जाता है बहुत सी महिलाएं इसके बारे में जानने की इन्छुक होती है और वह उस पद को प्राप्त करके रोजगार प्राप्त करना भी चाहती है मगर उन्हें इसके बारे में सही और पूरी जानकारी नही मिल पाती है जिसके कारण उन्हें इसके आवेदन में काफी समस्या का समाना करना पड़ता है

एसी महिलाएं अब इस आर्टिकल में दिए गये तरीके की मदद से आवेदन फॉर्म भर सकती है जैसा की आप सभी सायद जानते भी होंगे आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्थापना भारत सरकार की और से 1975 में की गई थी लेकिन अभी तक भी इसे न तो केंद्र सरकार की और से किसीभी श्रेणी में शामिल किया गया है और न ही राज्य सरकार की और से किसी श्रेणी में शामिल किया गया है तो चलिए जानते है इसके आवेदन की प्रक्रिया और आवेदन में काम में आने वाले दस्तावेजों के बारे में विस्तार से जानकारी

आंगनबाड़ी केंद्र के बारे में जानकारी:-

जैसा की हमने आपको बताया है केंद्र सरकार की और से आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्थापना 1975 में की गई थी पहले इसमें सिर्फ केंद्र सरकार की और से सारे खर्च का वहन किया जाता था मगर अब हर राज्य सरकार की और से इन आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाले खर्च का वहन किया जाता है केंद्र सरकार ने इस आंगनबाड़ी केंद्र को आंगनबाड़ी योजना नाम दिया गया है

जिसमे देश के हर ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले बच्चों और उनकी माताओं को शामिल किया जाता है और उन्हें कुपोषण से बचाने के लिए उन्ही हर सम्भव मदद की जाती है इस आंगनबाड़ी में ग्रामीण क्षेत्र के 3 महीने से लेकर 6 महीने तक के बच्चे को शामिल करके उसे कुपोषण से बचाया जाता है

आगनबाड़ी कार्याकर्ता कैसे बने सैलरी क्या है 

उन्हें सही पोस्टिक आहार सरकार की और से मुहहिया करवाया जाता है आंगनबाड़ी केंद्र को सरकार की तरफ से उन ग्रामीण क्षेत्रों में खोला जाता है जहां पर आबादी सख्या बहुत ज्यादा होती है इन केन्द्रों में ग्रामीण क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं की समय समय पर जांच और उन्हें स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी दी जाती है तथा बच्चों को बिना किसी शुल्क के राशन सामग्री या फिर पुस्तके प्रदान की जाती है आंगनबाड़ी केंद्र को ख़ास करके प्राथमिक विधालय के नाम से भी जाना जाता है देश में बहुत से ग्रामीण इलाके ऐसे है जहां गर्भवती महिलाओं को सही पोस्टिक आहार और गर्भावस्था के समय होने वाली जांच सही समय पर नही हो पाती है

पदआंगनबाड़ी सहायिका
राज्यराजस्थान
ऑफिसियल वेबसाइट———
टाइपसिर्फ महिलाओं के लिए

जिसके कारण वह या तो कुपोषण की शिकार हो जाती है या फिर उनकी गर्भावस्था के दोरान मृत्यु हो जाती है और बहुत से बच्चे ऐसे पाए जाते है जिन्हें सही पोस्टिक भोजन न मिलने के कारण कुपोषण के शिकार हो जाते है एसी महिलाओं और बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए इन आंगनबाड़ी केंद्र की स्थापना की गई ताकि उन्हें सही पोस्टिक भोजन और महिलाओं को गर्भावस्था के समय होने वाली जांच के बारे में सही जानकारी मिल सके

आंगनबाड़ी केंद्र में कितने पद होते है?

आज हम जिन आंगनबाड़ी केंद्र की बात कर रहे है वो राजस्थान के आंगनबाड़ी केंद्र के बारे में बता रहे है क्योंकि हर राज्य में अलग अलग आंगनबाड़ी केंद्र में अलग अलग कार्याकर्ता के पद होते है राजस्थान में मुख्य रूप से आंगनबाड़ी केंद्र में 4 प्रकार के पद होते है जो निम्न प्रकार है-

  • आंगनबाड़ी कार्यकर्ता
  • आंगनबाड़ी मिनी कार्यकर्ता
  • आंगनबाड़ी सहायिका
  • आंगनबाड़ी आशा सहयोगिनी

आंगनबाड़ी सहायिका के कार्य:-

इस आर्टिकल में मुख्य रूप से आंगनबाड़ी सहायिका के बारे में बताने का प्रयास किया है क्योंकि बहुत सी महिलाए एसी है जिन पर घर की सारी जिम्मेदारी होती है और आय का कोई साधन न होने के अभाव में उन्हें अपने घर का खर्चा चलाने में काफी मुस्किल का सामना करना पड़ता है एसी बेरोजगार महिलाएं अब आंगनबाड़ी सहायिका के लिए आवेदन कर सकती है आंगनबाड़ी सहायिका का मुख्य कार्य ये होता है की उन्हें आंगनबाड़ी मे छोटे बच्चों को घर से लाना पड़ता है और फिर उन्हें उनके घर छोड़कर भी आना पड़ता है आंगनबाड़ी केंद्र की साफ़ सफाई का ध्यान रखना होता है और उन्हें आंगनबाड़ी के कार्य में मदद करनी होती है

आंगनबाड़ी सहायिका ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | anganwadi assistant application form in hindi | anganwadi helper online application | आंगनबाड़ी सहायिका के बारे में जानकारी | आंगनबाड़ी सहायिका बनने के लिए आवेदन फॉर्म

इसके साथ साथ आंगनबाड़ी सहायिका को आंगनबाड़ी केंद्र में होने वाले हर प्रकार के कार्यक्रम में भाग लेना होता है काह्स करके आंगनबाड़ी सहायिका का पद सविदा पर होता है पहले आंगनबाड़ी सहायिका को पंचायत स्तर पर लगाया जाता था मगर अब अहर राज्य सरकार ने इसमें बदलाव कर दिया है और शाक्षातकार कर जरिये उन्हें भर्ती के आधार पर इस पद पर लगाया जाता है और भी बहुत से कार्य आंगनबाड़ी केंद्र पर ऐसे होते है जिनके अकेले आंगनबाड़ी सहायिका को ही करने होते है

आंगनबाड़ी सहायिका का वेतन कितना होता है?

अगर बात करे आंगनबाड़ी सहायिका के वेतन की तो उन्हें कोई अधिक वेतन नही मिलता है वैसे तो हर राज्य की सरकार की और से आंगनबाड़ी सहायिका को अलग अलग वेतन दिया जाता है हम आपको राजस्थान राज्य की आंगनबाड़ी सहायिका के वेतन की बताये तो उन्हें हर महीने 4200 रूपये का वेतन राज्य सरकार की और से दिया जाता है जो बहुत कम है मगर अब सरकार की और से धीरे धीरे इनके वेतन में बढ़ोतरी की जा रही है यानी समय के अनुसार आंगनबाड़ी सहायिका की सैलरी में सरकार की और से बढ़ोतरी कर दी जाती है आंगनबाड़ी सहायिका को मिलने वाली सैलरी उनके बैंक खाते में दी जाती है

आंगनबाड़ी सहायिका के लिए योग्यता:-

राजस्थान सरकार की और से आंगनबाड़ी सहायिका पद के आवेदन के लिए कुछ योग्यताओं को भी तय किया गया है जिनको ध्यान में रखकर ही महिला को आवेदन करना होता है

  • आवेदन करने वाली महिला उस राज्य की स्थाई निवाशी होनी चाहिए
  • आवेदिका शादीशुदा होनी अनिवार्य है
  • महिला कम से कम 8 उतीर्ण होनी चाहिए
  • महिला पहले से किसी सरकारी पद पर कार्य न कर रही हो
  • आवेदन करने वाली महिला के पास बैंक खाता होना चाहिए वो भी उसके आधार कार्ड से लिंक होना जरूरी है तभी उसको हर महीने मिलने वाली सैलरी उसके बैंक खाते में भेजी जा सकेगी
  • इस आंगनबाड़ी सहायिका पद के लिया आपको ऑफलाइन आवेदन करना होगा

आंगनबाड़ी सहायिका पद के आवेदन के लिए मुख्य दस्तावेज:-

Anganwadi Assistant पद के लिए जिन जिन दस्तावेजों की जरूरत होती है उनके बारे में कुछ इस प्रकार से है

  • आवेदिका का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • मैरिज सर्टिफिकेट
  • जाती प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • फ़ोन नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक खाता संख्या (आधार कार्ड से लिंक जरूरी है)
  • 8 पास की अंकतालिका
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • सहायिका पद के कार्य का अनुभव ही इसका प्रमाण पत्र

Anganwadi Assistant पद के लिए आवेदन फॉर्म:-

यदि आप भी इस आंगनबाड़ी सहायिका पद के लिए आवेदन करना चाहती है तो आप इस आर्टिकल में दिए गये तरीके के आधार पर आसानी से आवेदन कर सकती है क्योंकि राजस्थान सरकार की और से समय समय पर आगनबाडी सहायिका के पद के लिए भर्ती निकाली जाती है जिसमे आवेदन की इन्छुक महिलाओं को अपना आवेदन करना होता है और आपकी जानकारी के लिए बता दे की इस पद के लिए आपको ऑफलाइन आवेदन करना होता है क्योंकि राजस्थान राज्य की और से इस पद के लिए ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया सुरु की गई है वैसे तो बहुत से राज्य ऐसे है जहां इस पद के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होता है मगर राजस्थान राज्य में एसा नही है

  • सबसे पहले आपको आंगनबाड़ी सहायिका पद के इसका ऑफलाइन आवेदन फॉर्म लेना होगा
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म को सही सही भरना है क्योंकि कभी कभी की गई छोटी से गलती के कारण महिला का आवेदन फॉर्म रद्द कर दिया जाता है
आंगनबाड़ी सहायिका ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | anganwadi assistant application form in hindi | anganwadi helper online application | आंगनबाड़ी सहायिका के बारे में जानकारी | आंगनबाड़ी सहायिका बनने के लिए आवेदन फॉर्म
  • इसके बाद आपको इसमें हमारे द्वारा बताये गये दस्तावेजों की फोटो कॉपी को सलंग्न करना होता है
  • इसके बाद आप इसमें अपने हस्ताक्षर करे
  • अब आपको इस आंगनबाड़ी सहायिका पद के आवेदन फॉर्म को महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यालय में जमा करवा देना है

राजस्थान जननी सुरक्षा योजना पंजीयन फॉर्म 2021 Janani Suraksha Yojana Online Registration

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ को धामकियों का समाना भी करना होता है:-

आपकी जानकारी के लिए ये भी बता देते है की आंगनबाड़ी कार्याकर्ताओं चाहे वह आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हो या फिर आंगनबाड़ी सहायिका हो उन्हें भट सी बार बड़े बड़े अधिकारियों की और से धमिकयों का समाना भी करना होता है उन्हें डराया जाता है की आपको इतने पैसे हमी देने होंगे नही तो आपका ट्रांसफर कर दिया जाएगा या फिर आपको नोकरी से ही हटा दिया जाएगा

इस प्रकार की कई धमकियों का समाना करना पड़ता है और उच्च अधिकारियों की और से राशन सामग्री से में कटोती कर दी जाती है जो आगनबाडी में भेजी जाती है यानी राज्य सरकार की और से जो राशन सामग्री आगनबाडी केन्द्रों में भेजी जाती है वो सामग्री केंद्र में पहुचने से पहले ही उच्च अधिकारियों की और से उस सामग्री का बड़ा हिसा काट लिया जाता है

राजस्थान पालनहार योजना 2021,Palanhar Yojana Rajasthan

Leave a Comment

%d bloggers like this: