राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ 2021 Rajasthan Labour Card Yojana Ka La bh Kaese Le

राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ, श्रमिक कार्ड के लाभ राजस्थान, Rajasthan Labour Card Labh, Shrmik Card Ke Labh Rajasthan, राजस्थान लेबर कार्ड के लाभ, मजदुर कार्ड के लाभ राजस्थान, राजस्थान श्रमिक विभाग योजना, राजस्थान श्रमिक कार्ड के फायदे, Sharmik Card Ke Fayde

राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ, श्रमिक कार्ड के लाभ राजस्थान, Rajasthan Labour Card Labh, c Shrmik Card Ke Labh Rajasthan, राजस्थान लेबर कार्ड के लाभ, मजदुर कार्ड के लाभ राजस्थान, राजस्थान श्रमिक विभाग योजना, राजस्थान श्रमिक कार्ड के फायदे, Sharmik Card Ke Fayde
राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ

Table Of Content

राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ 2021

राजस्थान श्रमिक विभाग द्वारा मजदूरो के लिए बहुत सी योजनाओ को शुरू किया गया है जिनका लाभ उन्ही श्रमिको को दिया जाता है जिन मजदूरो का लेबर कार्ड बना हुआ है इन सभी योजनाओ को शुरू करने का उदेश्य प्रदेश के सभी असंगठित क्षेत्र के मजदूरो कि आर्थिक स्थिति में सुधार लाना और मजदूरो के परिवार म माता-पिता, बच्चो और पत्नी को भी इन योजनाओ का लाभ दिया जाता है

मजदूरो को राजस्थान श्रमिक कार्ड से आवास कि सुविधा, चिकित्सा सुविधा, बच्चो को छात्रव्रत्ति कि सुविधा और प्रतिमाह पेंशन कि सुविधाओ को दिया जाता है आज हम आपको इस आर्टिकल में राजस्थान श्रमिक कार्ड कि सभी योजनाओ के लिए ऑनलाइन आवेदन करने और योजना के लाभ कि जानकारी को विस्तार से देगे जिससे आप सभी योजनाओ का आवेदन करके लाभ ले सकते है. जिसके लिए आप आर्टिकल को लास्ट तक जरुर पढ़े.

Rajasthan Labour Card Yojana का उदेश्य:-

श्रमिक विभाग द्वारा असंगठित क्षेत्र के पंजीकर्त निर्माण मजदूरो के लिए योजनाओ को शुरू किया गया है साथ में सरकार द्वारा सभी श्रमिको को आर्थिक स्थिति में सुधार करने एक उदेश्य से योजना को शुरू किया है श्रमिक कार्ड से मजदुर को सरकार अपनी बेटियों के विवाह में 55,000 हजार रूपये कि आर्थिक सहायता प्रदान कि जाती है और श्रमिको को अपने कार्य के दोरान काम में आने वाले ओजार को खरीदने के लिए 2 हजार रूपये कि सहायता देने के लिए भी योजना को शुरू किया गया है.

राजस्थान श्रमिक कार्ड कि योजना – Rajathan Labour Card Scheme

राजस्थान श्रमिक कार्ड योजना लिस्ट योजना का आवेदन के लिए लिंक पर क्लिक करे
निर्माण श्रमिक जीवन व भविष्य सुरक्षा योजनाऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना ऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना ऑनलाइन आवेदन करे
प्रसूति सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन करे
शुभशक्ति योजना ऑनलाइन आवेदन करे
सिलिकोसिस पीड़ित हिताधिकारियों हेतु सहायता योजनाऑनलाइन आवेदन करे
हिताधिकारी की सामान्य अथवा दुर्घटना में मृत्यु या घायल होने की दशा में सहायता योजना 2014ऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिक औजार/टूलकिट सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिको के लिए व्यवसायिक ऋण पर ब्याज के पुर्नभरण योजना ऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिक एवं उनके आश्रित बच्चो द्वारा भारतीय/राजस्थान प्रशासनिक सेवा हेतु आयोजित प्रारम्भिक प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण करने पर प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिकों के पुत्र/पुत्री का आईआईटी/आईआईएम में प्रवेश मिलने पर ट्यूशन फीस की पुर्नभरण योजनाऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिकों को विदेश में रोजगार हेतु वीजा पर होने वाले व्यय का पुनर्भरण योजनाऑनलाइन आवेदन करे
निर्माण श्रमिक अन्र्तराष्ट्रीय खेल प्रतियोगियो हेतु प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन करे

निर्माण श्रमिक जीवन व भविष्य सुरक्षा योजना:-

राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ – आपको राजस्थान सरकार द्वारा शुरू कि गई निर्माण श्रमिक जीवन व भविष्य सुरक्षा योजना का आवेदन करने के लिय जो पात्रता चाहिए उसकी जानकारी को निचे दिए गया है साथ में आप योजना का ऑफलाइन आवेदन करने के लिए निचे दिए गये लिंक से फॉर्म को डाउनलोड कर सकते है.

  • मण्डल में हिताधिकारी के रूप में पंजीकृत निर्माण श्रमिक हो
  • हिताधिकारी के नाम में बैंक में बचत खाता हो
  • हिताधिकारी के पास आधार कार्ड तथा भामाशाह कार्ड हो। (वैकल्पिक)
  • हिताधिकारी प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा अटल पेंशन योजना की सदस्यता हेतु पात्रता धारक हो तथा उसके द्वारा स्वयं के बचत बैंक खाते से इन योजनाओं या इनमें से किन्हीं योजना के अंशदान/प्रीमियम राशि की कटौति किये जाने की सहमति सम्बन्धित बैंक को दी गई हो।
  • हिताधिकारी द्वारा स्वयं के बचत बैंक खाते के माध्यम से इन योजनाओं के वार्षिक अंशदान/प्रीमियम राशि की कटौति कराई गई हो

निर्माण श्रमिक जीवन व भविष्य सुरक्षा योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना:-

  • राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ – मण्डल में हिताधिकारी के रूप में पंजीकृत निर्माण श्रमिक होना जरुरी है
  • श्रमिक के पुत्र/पुत्री/पत्नि ही शिक्षा सहायता (छात्रवृत्ति) योजना के लिए पात्र होंगे.
  • मजदुर की अधिकतम दो संतान अथवा एक संतान एवं पत्नी को ही छात्रवृत्ति प्राप्त करने की पात्रता होगी, परन्तु यदि पति-पत्नि दोनों पंजीबद्ध हिताधिकारी हों तो पति-पत्नि के अधिकतम दो बच्चों को छात्रवृत्ति की पात्रता होगी। परन्तु मेधावी छात्र/छात्राओं को नगद पुरस्कार के लिए कोई सीमा नहीं होगी.
  • कक्षा 6 से स्नातकोत्तर स्तर की कक्षा में सरकारी या केन्द्र/राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त निजी स्कूल या महाविद्यालय में नियमित रूप से अध्ययनरत हो.
  • राज्य में संचालित सरकारी या मान्य निजी आईटीआई एवं पॉलीटेक्नीक पाठ्यक्रम में नियमित अध्ययनरत हो.
  • मेधावी छात्र-छात्रा द्वारा नगद पुरस्कार प्राप्त करने के लिए कक्षा 8 से 12 वीं तक की परीक्षा 7 % अंक या समकक्ष ग्रेड में उत्तीर्ण की हो. डिप्लोमा, स्नातक व स्नातकोत्तर स्तर की परीक्षा में (चिकित्सा, इंजिनियरिंग या अन्य प्रोफेशनल परीक्षा सहित) 60 प्रतिशत या अधिक अंक या समकक्ष ग्रेड प्राप्त की हो/उत्तीर्ण की हो.
  • मजदुर की पत्नि को छात्रवृत्ति की पात्रता के लिए उसकी आयु 35 वर्ष से अधिक न हो तथा षिक्षण संस्था में नियमित अध्ययनरत हो.
  • किसी वर्ष के लिए छात्रवृत्ति सुसंगत परीक्षा उत्तीर्ण कर लेने पश्चात् ही देय होगी.
  • ग्रीष्म अवकाश के बाद शिक्षण/प्रशिक्षण संस्था खुलने पर छात्र/छात्रा द्वारा आगामी कक्षा में प्रवेश प्राप्त करने पर ही छात्रवृत्ति की पात्रता होगी. परन्तु 12वीं कक्षा, डिप्लोमा, स्नातक अथवा स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की अन्तिम परीक्षा उत्तीर्ण करने की स्थिति में आगामी कक्षा में प्रवेष लेना आवष्यक नहीं होगा.
  • अधिनियम की धारा 17 तथा नियम, 2009 के नियम 45 के प्रावधानानुसार जो मजदुर लगातार एक वर्ष की कालावधि तक अंशदान जमा नहीं करता है तो वह मजदुर नहीं रहेगा अतः ऐसे अंशदान के जमा कराने में चूक करने वाले निर्माण श्रमिक के पुत्र/पुत्री/पत्नि को योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति देय नहीं होगी.

निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना:-

  • मण्डल में कम से कम 1 वर्ष से हिताधिकारी के रूप में पंजीकृत निर्माण श्रमिक हो तथा अंशदान जमा कराया गया हो
  • हिताधिकारी के पास आधार कार्ड तथा भामाशाह कार्ड हो
  • यदि स्वयं के भूखण्ड पर आवास बनाता है तो भूखण्ड पर स्वयं का या पत्नी/ पति का मालिकाना हक हो तथा उक्त भूखण्ड/सम्पत्ति विवाद रहित, बंधक रहित हो
  • वित्तीय संस्था/बैंक से ऋण लेने के अतिरिक्त, स्वयं की बचत या अन्य स्त्रोत से ऋण लेकर आवास का निर्माण करने की स्थिति में, आवास की अनुमानित निर्माण लागत का प्रमाणिकरण पंचायत अथवा नगर पालिका के कनिष्ठ अभियन्ता या उससे उच्च अभियन्ता से प्राप्त करना आवश्यक होगा
  • हिताधिकारी आवास हेतु सहायता/अनुदान प्राप्त करने के उपरान्त 10 वर्ष तक निर्माण अथवा क्रय किए गए अथवा केन्द्र या राज्य सरकार की किसी आवास योजना के अन्तर्गत प्राप्त किये गये आवास का बेचान, एग्रीमेंट टू सेल या अन्य किसी भी प्रकार से नहीं कर सकेगा। यदि ऐसा किया जाता है तो अनुदान की राषि हिताधिकारी से पुनः वसूल की जाएगी
  • यदि हिताधिकारी अथवा उसकी पत्नि/पति अथवा आश्रित पुत्र या पुत्री के नाम पर/मालिकाना हक में पहले से कोई आवास है तो ऐसे मजदूरो को योजना का लाभ नही दिया जायेगा.

निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

प्रसूति सहायता योजना:- राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ

  • महिला श्रमिक अधिनियम की धारा 13 के अंतर्गत हिताधिकारी परिचय पत्रधारी हो.
  • प्रसव के समय महिला हिताधिकारी की आयु 20 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए.
  • प्रसूति हितलाभ अधिकतम दो बार के प्रसव हेतु ही देय होगा.
  • पंजीयन से पूर्व दो या अधिक संतान होने की स्थिति में सहायता देय नहीं होगी तथा पंजीयन से पूर्व एक संतान होने पर एक ही प्रसव पर सहायता देय होगी (अधिसूचना दिनांक 21.09.2015 द्वारा संषोधित).
  • ऐसे निर्माण कर्मकार हिताधिकारी जो मण्डल की निधि में मासिक अभिदाय जमा करने की चूक (डिफाल्ट) करते हैं, उन्हें प्रसूति सहायता योजना के लाभ की पात्रता नहीं होगी.
  • पुनः मासिक अदायगी न करने की चूक का नियमानुसार पुनर्भरण करने पर निर्माण हिताधिकारी कर्मकार प्रसूति सहायता योजना के लाभ की पात्र होगी.
  • योजना के अन्तर्गत प्रसूति हितलाभ संस्थागत प्रसव पर ही देय होंगे। (अधिसूचना दिनांक 21.09.2015 द्वारा जोडा गया).
  • प्रसूति सहायता योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस लिंक पर जाये –ऑनलाइन आवेदन करे

प्रसूति सहायता योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

राजस्थान शुभशक्ति योजना:- राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत श्रमिको दो पुत्रियों के विवाह पर 55-55 हजार रूपये कि सहायता राशी दी जाती है इस योजना का लाभ प्रदेश के स्थाई निवासी श्रमिको को ही दी जाता है जिनका श्रमिक कार्ड बना हुआ है उन्ही श्रमिको को इस योजना का लाभ दिया जाता है.
  • लड़की के पिता या माता अथवा दोनों, कम से कम एक वर्ष से मण्डल में पंजीकृत मजदुर/निर्माण श्रमिक हों
  • श्रमिक की अधिकतम् दो पुत्रियों अथवा महिला मजदुर को और उसकी एक पुत्री को प्रोत्साहन राशि देय होगी
  • महिला मजदुर अविवाहिता हो अथवा मजदुर पुत्री की आयु न्यूनतम् 18 वर्ष पूर्ण हो गई हो तथा वह अविवाहिता हो
  • मजदुर की पुत्री/महिला श्रमिक कम से कम 8वीं कक्षा उर्त्तीण होना जरुरी है.
  • श्रमिक की पुत्री/महिला श्रमिक के नाम से बचत बैंक खाता होना जरुरी है.
  • मजदुर का स्वयं का आवास होने की स्थिति में, आवास में शौचालय हो.
  • आवेदन की तिथि से पूर्व के एक वर्ष की अवधि में श्रमिक कम से कम 90 दिन निर्माण श्रमिक के रूप में कार्यरत रहा हो. प्रोत्साहन राशि हिताधिकारी के निर्माण श्रमिक होने भौतिक सत्यापन की शर्त पर देय होगी
  • राजस्थान शुभशक्ति योजना का ऑनलाइन आवेदन करने कि जानकारी के आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे – ऑनलाइन आवेदन करे

राजस्थान शुभशक्ति योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

सिलिकोसिस पीड़ित हिताधिकारियों हेतु सहायता योजना:-

  • इस योजना के लिए वे निर्माण श्रमिक पात्र होंगे, जो हिताधिकारी के रूप में मण्डल में पजीकृत हो तथा अंषदान जमा करा रहे हैं
  • हिताधिकारी के सिलिकोसिस से पीड़ित होना राजस्थान कर्मकार क्षतिपूर्ति (व्यवसायजन्य बीमारियां) नियम, 1965 में गठित न्यूमोकोनियोसिस मैडिकल बोर्ड द्वारा प्रमाणित किया गया हो
  • हिताधिकारी को राजस्थान एनवायरमेंट एण्ड हैल्थ सैस फण्ड (रीहेब) से सिलिकोसिस सहायता राषि प्राप्त नहीं हुई हो
  • नोट- सिलिकोसिस पीड़ित व्यक्ति राजस्थान एनवायरमेंट एण्ड हैल्थ सैस फण्ड अथवा मण्डल की योजना में से किसी एक में ही सहायता प्राप्त करने का पात्र होगा.

सिलिकोसिस पीड़ित हिताधिकारियों हेतु सहायता योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

हिताधिकारी की सामान्य अथवा दुर्घटना में मृत्यु या घायल होने की दशा में सहायता योजना 2014:-

  • योजना के तहत 18 से 60 वर्ष की उम्र के निर्माण श्रमिक इस योजना के लिए पात्र होगें.
  • हिताधिकारी निर्माण श्रमिक जिनका धारा 12 के अन्तर्गत मण्डल में पंजीयन हो चुका है और जो अपना अंशदान नियमित रुप से जमा करवा रहे है. हिताधिकारी की मृत्यु की दषा में, नियमित अंषदान जमा कराने की समय-सीमा में 3 माह की शिथिलता होगी। (अधिसूचना दिनांक 21.09.2015 द्वारा संषोधित).

हिताधिकारी की सामान्य अथवा दुर्घटना में मृत्यु या घायल होने की दशा में सहायता योजना 2014 का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिक औजार/टूलकिट सहायता योजना:-

  • श्रमिक औजार टूलकिट सहायता योजना के तहत मजदूरो को औजार टूलकिट खरीदने के लिए 2,000 रूपये कि सहायता राशी दी जाती है जिससे श्रमिक अपने कार्य के दोरान काम आने वाले औजार खरीद सकते है
  • 5 साल में फिर से इस योजना का लाभ लिया जा सकता है एक बार आवेदन करने के बाद आवेदक फिर से 3 से 5 साल के बाद आवेदन कर सकता है
  • निर्माण श्रमिक औजार/टूलकिट सहायता योजना का आवेदन करने के लिए आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे – ऑनलाइन आवेदन करे

निर्माण श्रमिक औजार/टूलकिट सहायता योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिको के लिए व्यवसायिक ऋण पर ब्याज के पुर्नभरण योजना:-

  • इस योजना के लिए वे निर्माण श्रमिक पात्र होगें, जो हिताधिकारी के रूप में मण्डल में पंजीकृत हैं तथा निरन्तर अंशदान जमा करा रहे हैं
  • निर्माण श्रमिको द्वारा व्यावसायिक ऋण के संबंध में प्राप्त होने वाले आवेदनों को मण्डल द्वारा वित्तीय संस्थान को नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु अग्रेषित किया जा सकता है
  • योजना के अन्तर्गत निर्माण श्रमिको के द्वारा स्वयं के व्यवसायिक कार्य जैसे मशीन आदि खरीदने अथवा आत्मनिर्भरता की दृष्टि से अधिकतम 5 लाख रूपये तक बैंक/वित्तीय संस्थान से लिये गए ऋण की स्वीकृति होना आवश्यक है
  • दुकान/भू-खण्ड/वाहन अथवा घरेलू सामान क्रय करने हेतु लिये गये लिये गए ऋण पर योजना के अन्तर्गत सहायता राशि देय नहीं है

निर्माण श्रमिको के लिए व्यवसायिक ऋण पर ब्याज के पुर्नभरण योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिक एवं उनके आश्रित बच्चो द्वारा भारतीय/राजस्थान प्रशासनिक सेवा हेतु आयोजित प्रारम्भिक प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण करने पर प्रोत्साहन योजना:-

  • इस योजना के लिए वे निर्माण श्रमिक पात्र होगें, जो हिताधिकारी के रूप में मण्डल में पंजीकृत हैं तथा निरन्तर अंशदान जमा करा रहे हैं
  • अभ्यर्थी के माता-पिता की समस्त स्त्रोतो से वार्षिक आय 2.50 लाख रूपये से अधिक न हो
  • अभ्यर्थी जो पूर्व से ही राजकीय सेवाओ में कार्यरत है, उन्हे इस योजना में लाभ नहीं दिया जायेगा
  • अभ्यर्थी द्वारा संघ लोक सेवा आयोग एवं राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा की प्रतियोगी परीक्षा तथा राजस्थान प्रशासनिक सेवा की प्रारम्भिक परीक्षा में सफलता प्राप्त करने पर दोनांे परीक्षाओं हेतु अलग-अलग निर्धारित प्रोत्साहन राशि दी जायेगी

निर्माण श्रमिक एवं उनके आश्रित बच्चो द्वारा भारतीय/राजस्थान प्रशासनिक सेवा हेतु आयोजित प्रारम्भिक प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण करने पर प्रोत्साहन योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिकों को विदेश में रोजगार हेतु वीजा पर होने वाले व्यय का पुनर्भरण योजना:-

  • इस योजना के लिए वे निर्माण श्रमिक पात्र होगें, जो हिताधिकारी के रूप में मण्डल में पंजीकृत हैं तथा निरन्तर अंशदान जमा करा रहे हैं.
  • विदेश में संविदा नियोजन प्राप्त करने हेतु प्रवासी अधिनियम, 1983 के अन्तर्गत Protectors of Emigrants (POE) के कार्यालय से प्रवास की अनुमति लिया जाना आवश्यक है.
  • भर्ती करने वाली एजेन्सी का प्रवासी अधिनियम के अन्तर्गत पंजीयन अथवा पीओई कार्यालय से वैध परमिट आवश्यक है.
  • उक्त योजना में वीजा राशि का पुनर्भरण हिताधिकारी के वैध वीजा सहित पासपोर्ट की न्यूनतम 6 माह की वैधता होने पर देय होगा.
  • विदेश में हिताधिकारी का भावी नियोजन भवन एवं अन्य संनिर्माण कार्य में होने पर ही इस योजना का लाभ देय होगा.

निर्माण श्रमिकों को विदेश में रोजगार हेतु वीजा पर होने वाले व्यय का पुनर्भरण योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

निर्माण श्रमिक अन्र्तराष्ट्रीय खेल प्रतियोगियो हेतु प्रोत्साहन योजना:-

  • राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ – इस योजना के लिए वे निर्माण श्रमिक पात्र होगें, जो हिताधिकारी के रूप में मण्डल में पंजीकृत हैं तथा निरन्तर अंशदान जमा करा रहे हैं। उक्त के अतिरिक्त निर्माण श्रमिक के अविवाहित पुत्र एवं पुत्री भी योजना के अन्तर्गत सहायता के पात्र होगे.
  • किसी भी आॅनलाईन गेमिंग/बैटिंग संबंधी प्रतियोगिता हेतु योजना के प्रावधान लागू नहीं होगे.
  • अन्र्तराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता आयोजित करने वाली संस्था द्वारा डोपिंग के कारण किसी खिलाड़ी को अमान्य घोषित किये जाने अथवा जीते गए पदक को अमान्य/वापस लिए जाने की घोषणा के उपरान्त योजनान्तर्गत कोई प्रोत्साहन राशि देय नहीं होगी.
  • हिताधिकारी द्वारा योजना के अन्तर्गत प्रस्तुत सहायता आवेदन में दी गई सूचनाओ में कोई तथ्य असत्य पाया जाता है, तो योजनान्तर्गत स्वीकृत समस्त सहायता राशि एक मुश्त मय ब्याज के जमा कराने का उत्तरदायित्व संबंधित हिताधिकारी का होगा.

निर्माण श्रमिक अन्र्तराष्ट्रीय खेल प्रतियोगियो हेतु प्रोत्साहन योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे – APPLICATION FROM PDF DOWNLOAD

राजस्थान श्रमिक कार्ड के लाभ – आपको राजस्थान श्रमिक कार्ड से मजदूरो के लिए शुरू कि गई सभी योजनाओ कि जानकारी और फॉर्म डाउनलोड करने का लिंक दिया गया है अगर आप श्रमिक कार्ड कि योजनाओ से समन्धित अधिक जानकारी को प्राप्त करना चाहते है तो आप राजस्थान श्रमिक विभाग कि अधिकारिक वेबसाइट पर जाये.

Leave a Comment

%d bloggers like this: