पालनहार योजना राजस्थान online रजिस्ट्रेशन /palanhar scheme in rajasthan पंजीयन form [1000 रुपया ]

राजस्थान पालनहार योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया | Rajasthan Palanhar Yojana Application Form |
राजस्थान पालनहार योजना application फॉर्म | Palanhar Yojana rajasthan में कितना लाभ मिलेगा |
पालनहार योजना राजस्थान किन बचो को लाभ मिलेगा |

राजस्थान सरकार अपने राज्य के गरीब एवं अनाथ बचो के भविष्य को उज्ज्वल बनाने के लिय palanhar योजना
 की शुरुआत की है इस योजना में राज्य के सभी क्षेत्रो के बचो को सरकार हर महीने 1000 रुपया की राशी free में प्र
दान करेगी जिससे उनके जीवन की हर जरुरतो को पूरा किया जा सके और इस योजना का लाभ केवल राज्य के अ
नाथ व् गरीब बचो को ही मिलेगा तो चलिय दोस्तों हम इस आर्टिकल में योजना के दस्तावेज ,आवेदन प्रक्रिया ,कि
स प्रकार लाभ मिलेगा इन सब बातो की जानकारी बताते है आप से अनुरोध है की आप इस आर्टिकल को लास्ट तक
 जरुर पढ़े उम्मीद है की आपको इस योजना का लाभ जरुर मिलेगा |

पालनहार योजना राजस्थान 2020 

राज्य के अनाथ व् गरीब छात्र वर्ग जो अपने माता -पिता के बिना अपना रहन -सहन करते है उनको बहुत ही तकली
फों का सामना करना पड़ता है उनके पास किसी प्रकार की जरुरतो को पूरा करने के कोई भी साधन नही है उनको रा
जस्थान सरकार 5 वर्ष के बचो को प्रति महिना 500 रुपया की आर्थिक सहायता राशी प्रदान करेगी और जब ये बचे
 अध्ययन करने के लिय स्कूल में admissionकरवाएँगे तक इसकी शिक्षा का खर्चा आसानी से निकल जाएगा और जब ये बचे 5 वी क्लास से आगे की शिक्षा काअध्ययन करेंगे और उनकी आयु 18 वर्ष होगी

 तब इस समय के बिच इन बको को राजस्थान सरकार 1000 प्रतिमाह प्रदान करेगी इसके साथ साथ पहनने के स
र्दी गर्मी के वस्त्र ,स्कुल ड्रेस ,जूते ,रहने के लिय आवास खाना -पीना अदि की व्यवस्था सरकार अपने राजकोष से क
रेगी जिससे राज्य के सभी युवाओ को शिक्षा के प्रति लगाव रहेगा और इससे राजस्थान राज्य की साक्षरता दर में का
फी सुधार देखने को मिलेगा 

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता 2020,Online Registration

योजना का नाम पालनहार योजना राजस्थान 
शुरू की गई राजस्थान मुख्यमंत्री द्वारा (राजस्थान सरकार )
उधेश्य राज्य के अनाथ व् गरीब परिवार को जीवन जीने का सहारा प्रदान करना 
लाभार्थी राज्य के अनाथ पालनहार बचे 
ऑफिसियल website http://sje.rajasthan.gov.in/schemes/Palanhar.

राजस्थान पालनहार योजना का मुख्या उधेश्य क्या है 

पालन हार योजना का उधेश्य है की राज्य के सभी क्षेत्र के अनाथ एवं गरीब व् असहाय परिवार के बचो को शिक्षा व्
 पालन पोषण करना है इन बचो को भी अपने भविष्य को सुधारने के मोका मिले इस पालनहार योजना में राज्य के
 इन बचो राज्य सरकार हर महीने के 10000 रुपया की आर्थिक सहायता राशी प्रदान करेगी

 जिससे वे अपनी जरुर
तो को पूरा कर सके जब ये बचे शिक्षा की और अग्रसर होंगे तब सरकार इन को 1000 रुपया की राशी तब तक प्रदान

 करेगी जब तक वे 18 साल के न हो जाए 

पालनहार योजना में दी जाने वाली आर्थिक राशी किस प्रकार है 

राजस्थान सरकार ने अपने राज्य के अनाथ व् गरीब असहाय बचो को हर महीने 500 -500 रुपया की सहायता राशी
 प्रदान करेगी और जब ये अनाथ बचे पढने के लिय किसी सरकारी स्कूल में अपना दाखिला करवा लेंगे तब उनको रा
ज्य सरकार की और से 1000 -1000 रुपया की आर्थिक मदद दी जाएगी 

इसके साथ साथ उनको हर मोसम के वस्त्र व् खाना -पीना और रहने के लिय आवास की सुविधा भी प्रदान करेगी इ
न जरुरत मद के लिय राज्य सरकार अलगसे सालाना 2000 रुपया भी मुहिया करवाएगी 

राजस्थान पालनहार योजना के शुरू होने से क्या क्या benifite होंगे 

  • इस पालनहार योजना के शुरू होने से राज्य के अनुसूचित जाति व् जनजाति तथा sc/st समुदाय वर्ग के अनाथ ब
    चो का जीवन सरल बन जाएगा 
  • इस योजना से राज्य का कोई भी अनाथ बचा बगेर शिक्षा के नही रहेगा सब को समान रूप से योजना का लाभ मि
    लेगा 
  • जब पालनहार योजना को राज्य में लागु किया जाएगा तब राज्य की सरकार इन बचो को 5 वर्ष की उम्र तक हर
     महीने 500 -500 रुपया की सहायता दी जाएगी 
  • इस योजना के जरीय जब इन अनाथ बचो को शिक्षा ग्रहण करने के लिय स्कूल में एडमिशन हो जाएगा तब इन
    को 1000 1000 रुपया प्रति माह प्रदान करेगे ये रुपया तब तक प्रदान करेंगे जब तक बालक की उम्र 18 साल न
     हो 
  • पालनहार योजना का लाभ बालक को 2 वर्ष की उम्र से शुरू किया जाएगा उनको आंगन बाड़ी केंद्र में पढाया जाए
    गा 

पालनहार योजना राजस्थान योजना के योग्य जो बचे आते है उनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार है 

  • राज्य के वे बचे जिनके माता -पिता दोनों का स्वर्गवास हो गया है (अनाथ )
  • जिन बचो के माता -पिता किसी कारण वश आजीवन कारावास की यातना भोग रहे है उनको इस पालनहार योज
    ना में शामिल किया जाएगा 
  • बचे की माता का स्वर्गवास होने के पश्चात् पिता का पुनर्विवाह होने पर पहले वाली पत्नी के बचो को योग्य मन 
    जाएगा 
  • जिस बचे के माता -पिता किसी खतरनाक बीमारी से झुझ रहे है उनको भी योजना से लाभ मिलेगा 
  • जिस महिला या औरत का परित्याग हुआ है उनकी संतान को भी पालनहार योजना का लाभ मिलेगा 

पालनहार योजना राजस्थान के लिय पात्रता क्या होनी चाहिय 

  • बचे के माता -पिता की वार्षिक आय 1.20 लाख से ज्यादा नही होनी चाहिय 
  • अनाथ बचा या गरीब परिवार का बचा राजस्थान का मूल निवासी होना जरुरी है 
  • योजना का लाभ पाने वाले बचे अनाथ या गरीब परिवार का होना जरुरी है 

पालनहार scheme  राजस्थान के लिय जरुरी दस्तावेज (documents )

  • इस योजना के लाभ लेने के लिय बचे के पास माता -पिता के death सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है 
  • जिस बचे के माता पिता किसी कारावास की आजीवन कट रहे है तो ब्चेको जेलर अधिकारी से कारावास भोगी की
     एक फोटो कोपी 
  • बचे का आधार कार्ड 
  • परिवार राशन कार्ड 
  • मुलनिवास प्रमाण पत्र 
  • भामाशाह कार्ड 
  • बचे का जन्म प्रमाण पत्र 
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो 
  • बचे के माता -पिता किसी खतरनाक बीमारी से पीड़ित है तो उस बीमारी का कोई प्रमाण होना जरुरी है बचे के मा
    ता -पिता का आय प्रमाण पत्र 
  • नाते जाने वाली महिला के अगर तीन या उससे ज्यादा बचे है तो उनको योजना के लाभ के लिय इन बचो का जन्
    म प्रमाण पात्र 

पालनहार योजना राजस्थान की आवेदन प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है 

राजस्थान राज्य का इच्छुक अनाथ अभियार्थी इस पालनहार योजना का आवेदन कराना चाहता है तो हमारे द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करे 

  • सबसे पहले अभियार्थी को पालनहार योज की अधिकारिक website पर जाकर इस योजना का home पेज open करना है 
  • new page ओपन करने के बाद आपको पालनहार योजना का application फॉर्म इस साईट से download करना है 
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म में पूछी गई सारी details दस्तावेजो से मिलन करके सही तरीके से भरनी है जैसे ब

    चे कम ,एड्रेस ,अनाथ सर्टिफिकेट के रजिस्ट्रेशन नंबर अदि |
  • फॉर्म प्रक्रिया पूरी करने के बाद आप अपने दस्तावेजो की एक -एक प्रतिलिपि को फॉर्म क्र साथ अटेच करके अपने
     जिला निदेशालय की अनाथ children office में जमा कराना है और आपका आवेदन succesfull भरा गया 

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top
%d bloggers like this: