[पंजीकरण ]राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म शुरू , लाभ व् पात्रता की जानकारी

By | दिसम्बर 18, 2020

मुख्यमंत्री योजना राजस्थान 2020-21 |बाबासाहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना |अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म PDF |अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म pdf Rajasthan |अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म राजस्थान |अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म राजस्थान पंजीकरण फॉर्म |

राजस्थान अंतरजातीय विवाहप्रोत्साहन योजना को प्रदेश में वैवाहिक समंधो को मजबूत बनाने व् उनको आर्थिक सहायता प्रदान करने की योजना है इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा राज्य के दो अलग अलग जातियों के युवक व् युवती जब आपस में वैवाहिक समंध बनाना चाहती है तो उनको आर्थिक मदद के ओतूर पर राजस्थान सरकार 5 लाख रुपया तक की आर्थिक सहायता राशी प्रदान करेगी राजस्थान के सामाजिक सुरक्षा विभाग के अधिकारी डॉ चतुर्वेदी ने प्रदेश में अंतरजातीय विवाह को बड़ा महत्व दिया है दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको इस अंतरजातीय विवाह के दस्तावेज , पात्रता , उधेश्य , लाभ और इसकी गुणवता के बारे में विस्तार से वर्णन करेंगे इसलिय आप से अस्नुरोध है की आप इस आर्टिकल को अंत तक जरुर पढ़े और योजना का लाभ उठाए

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 2020

राजस्थान सरकार ने प्रदेश में दो अलग जाति के युवा व् युवती अगर अपनी शादी करना चाहते है और लड़की sc/ st समुदाय से है तो उनको राज्य सरकार की और से आर्थिक सहायता के रूप में 5 लाख रुपया की राशी प्रदान करेगी इस राशी को दो भागो में वर्गीकृत किया गया है इसमें पहले २.50 लाख रुपया तो लड़की के परिवार वालो को दिया जाएगा तथा बाकि के २.50 लाख रुपया युवक के परिवार को प्रदान किय जाएँगे राजस्थान के सामाजिक न्याय के अधिकारी डॉ अरुण चतुर्वेदी ने इस सहायता राशी के कुछ नियम व् क़ानूनी कायदे है उनके अनुसार ही योजना द्वारा जो प्रोत्साहन राशी मिलती है उसके अनुसार ही मिलना संभव है |

अभी पिछले साल की एक रिपोर्ट के अनुसार राज्य के 177 जोड़ो को राज्य सरकार ने 87.50 लाख रुपया को इन अंतरजातीय विवाह करने वाले दम्पति परिवारों को दिया गया है इन पैसो को अलग अलग किस्तों में देने की बात राज्य सरकार की टीम ने तय किया है एक साथ ण देकर पैसो को विभाजित किया है ताकि फिजूल का खर्चा ना किया जाए

 राजस्थान वृद्धावस्था पेंशन योजना 

आर्टिकल किसके बारे में है राजस्थान अंतरजातीय vivah प्रोत्साहन योजना
शुरू की गई मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार द्वारा
उधेश्य प्रदेश में जाति प्रथा व् कुरीतियों से मुक्त कराना है
लाभार्थी राजस्थान के युवक व् युवतिय
सहायता राशी 5 लाख रुपया
ऑफिसियल वेबसाइट sjms.rajasthan.gov.in/sjms/Login.aspx

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना क्या है

ये योजना राजस्थान राज्य के विवाह बंधन की सहायता राशी की प्रक्रिया है इस योजना के अंतर्गत राज्य के वे वैवाहिक जोड़े शामिल किय जाएँगे जिनकी शादी एक आमिर लड़का किसी ऊँचे खंडन से है और वो obc ya general समुदाय से है और उसकी शादी किसी गरीब परिवार की लड़की जो sc /st समुदाय से है उनके साथ शादी विवाह की रस्म को पूरा करते है तो उनको राज्य सरकार द्वारा 5 लाख रुपया की आर्थिक सहायता राशी के रूप में राज्य सरकार प्रदान करेगी |

इन रुपयों को राज्य सरकार दो भागो में वर्गीकृत कर उसमे से २.50 लाख रुपया तो लड़की के घर वालो को दिया जाएगा तथा बाकि बचे २.50 लाख रूपये लड़के के घर वालो को दिया जाएगा इस प्रकार इस अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना की प्रक्रिया को राज्य सरकार ने तैयार किया है जिससे प्रदेश में जो अंतरजातीय प्रथा है उनको भी राज्य सरकर खत्म करने का निश्चय किया है

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का मुख्य उधेश्य क्या है

राजस्थान सरकार का मुख्य उधेश्य है की प्रदेश में जो जातियों के बिच जो फर्क समझा जा रहा है उनको ख़त्म करना आज राजस्थान राज्य में भेदभाव बहुत बाद गया है उनको ख़त्म करने के लिय राज्य सरकार ने अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना को प्रदेश में शुरू किया है इस योजना के अंतर्गत राज्य के अगर कोई ऊँची जाति का युवा किसी sc /st वर्ग की लड़की के साथ अपना वैवाहिक समंध स्थापित करता है तो उन दोनों को राज्य सरकार द्वारा आर्थिक सहायता राशी के रूप में 5 लाख रुपया की सहायता राशी प्रदान करेगी ये पैसे राज्य सरकार ने लड़का तथा लड़की दोनों के परिवार को बराबर बराबर 50 % – 50 % के हिस्सों में प्रदान करेगी

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के मुख्य लाभ क्या है

  • इस अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ केवल राजस्थान राज्य के मूल निवासियों को ही सेवा लाभ मिलना संभव है
  • इस योजना का लाभ राज्य के युवक की उमे 18 साल से अधिक तथा 35 साल से कम वाले युवक को ही मिलेगा
  • अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा 5 लाख रुपया तक की आर्थिक सहायता राशी प्रदान करने की घोषणा राज्य सरकार ने की है
  • योजना के पात्र उन जोड़ी को समझा जाएगा जिसमे लड़का ऊँची जाति जैसे obc ya general समुदाय से है और बालिका sc/ st समुदाय से है उनकी जोड़ी को ही अंतरजातीय विवाहिक प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा
  • इस योजना से प्रदेश में जो जातीय कुप्रथा है उनको भी कम किया जाएगा सभी धर्मो के लोग मिलजुल कर आपस में प्रेम से एकसाथ रहेंगे
  • इस अंतरजातीय विवाह का लाभ राज्य के दोनों लड़के तथा लड़की को तब दिया जाएगा जो पिछले 8 साल से उनके बैंक खातो में लेनदेन किया जा रहा है और आपस में एक साथ मिलजुल कर रहते है

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के जरुरी दस्तावेज

  • दोनों के आधार कार्ड
  • उनके माता – पिता के आधार कार्ड तथा पहचान पत्र
  • पैन कार्ड
  • परिवार का राशन कार्ड
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • जैसे कोई भी कक्षा 10 या अलग कोई भी मार्कशीट
  • बैंक खाता पासबुक सहित
  • 4 पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

राजस्थान राज्य का कोई भी परिवार का लड़का या लड़की इस अंतरजातीय विवाह योजना के अंतर्गत अपना ऑनलाइन पनिकरण करवाना चाहते है तो वे हमारे द्वारा जो बताए गए दिशा निर्देश है उनके अनुसार ही फॉर्म को ऑनलाइन अप्लाई करे ताकि इस योजना का लाभ पाने में कोई भी मुश्किल ना हो

लिंक पर क्लिक करने के बाद, आपके सामने एक पेज ओपन होगा। यहां आपको “Redirect to SSO” का बटन दिखाई देगा, फिर आप उस पर क्लिक करें। जैसा नीचे चित्र में दर्शाया गया है

  • उसके बाद आपको इस योजना से समन्धित जो भी दस्तावेज है उनको upload करना है
  • documents को upload करने के बाद निचे save बटन या submit बटन पर क्लिक कर देना है
  • इसके बाद आपकी अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत अपना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया सम्पूर्ण हो जाएगी

One thought on “[पंजीकरण ]राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म शुरू , लाभ व् पात्रता की जानकारी

  1. Pingback: [ पंजीकरण ] राजस्थान फ्री स्कूटी योजना आवेदन फॉर्म ~ free scuty scheme online registration »

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *