सार्थक योजना 2021 ऑनलाइन पंजीयन SARTHAQ Scheme Online Registration Form

सार्थक योजना, सार्थक योजना ऑनलाइन पंजीयन फॉर्म, सार्थक योजना का ऑनलाइन आवेदन कैसे करे, Sarthaq Scheme online Apply form, SARTHAQ Scheme, सार्थक योजना 2021, सार्थक योजना क्या है, सार्थक योजना के लाभ क्या है, सार्थक योजना के दस्तावेज क्या है, सार्थक योजना की पात्रता क्या है, SARTHAQ Yojana Helpline Number, सार्थक योजना का उदेश्य क्या है, SARTHAQ Yojana Application Form Download, सार्थक योजना के कार्य की शिक्षा प्रणाली

सार्थक योजना, सार्थक योजना ऑनलाइन पंजीयन फॉर्म, सार्थक योजना का ऑनलाइन आवेदन कैसे करे, Sarthaq Scheme online Apply form, SARTHAQ Scheme, सार्थक योजना 2021, सार्थक योजना क्या है, सार्थक योजना के लाभ क्या है, सार्थक योजना के दस्तावेज क्या है, सार्थक योजना की पात्रता क्या है, SARTHAQ Yojana Helpline Number, सार्थक योजना का उदेश्य क्या है, SARTHAQ Yojana Application Form Download, सार्थक योजना के कार्य की शिक्षा प्रणाली
सार्थक योजना 2021

सार्थक योजना 2021 के बारे में

सार्थक योजना 2021 को देश के केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल जी द्वारा शुरू कि गई है केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोरखरियाल निशंक ने बृहस्पतिवार को राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति के उद्श्यों एवं लक्ष्यों को हासिल करने में सहयोग के लिये ‘गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के जरिये छात्रों एवं शिक्षकों का समग्र विकास’ (सार्थक) योजना की शुरूआत की. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने ‘सार्थक’ योजना की रूपरेखा तैयार की है. इसे देश की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव के तहत जारी किया गया है अभी हम आपको इस आर्टिकल में सार्थक योजना 2021 से समन्धित सभी प्रकार कि जानकारी को प्रदान करेगे

SARTHAQ Scheme 2021 Hilight

  • सार्थक योजना 2021 के बारे में
  • SARTHAQ Scheme 2021 – सार्थक योजना क्या है?
  • सार्थक योजना का उदेश्य क्या है?
  • सार्थक योजना के कार्यान्वयन के बाद संपूर्ण शिक्षा प्रणाली
  • सार्थक योजना के लाभ क्या है?

SARTHAQ Scheme 2021 – सार्थक योजना क्या है?

सार्थक योजना 2021 देश के सभी छात्रों और शिक्षको के लिए शरू कि गई एक योजना है 29 जुलाई, 2020 को जारी एनईपी-2020 के लक्ष्यों एवं उद्देश्यों के अनुसरण में और राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को इस कार्य में सहायता करने के लिए स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ने स्कूल शिक्षा के लिए एक निर्देशात्मक और विचारोत्तेजक योजना विकसित की है इसेगुणवत्तापूर्ण शिक्षा के माध्यम से छात्रों और शिक्षकों की समग्र उन्नति(सार्थक) नाम दिया गया है शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आजइस कार्यान्वयन योजना को जारी किया इसे भारतीय स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर आयोजित होने वाले अमृत महोत्सव के एक हिस्से के रूप में शुरू किया गया है

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र योजना 2021 ऑनलाइन पंजीयन
सभी राज्यों की पेंशन योजना लिस्ट 2021
प्रधानमंत्री किसान योजना 2021 नई अपडेट

सार्थक योजना का उदेश्य क्या है?

अमृत महोत्‍सव समारोह के हिस्‍से के रूप में की जा रही इस पहल का उद्देश्‍य गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा के जरिए विद्यार्थियों और शिक्षकों की समग्र उन्‍नति सुनिश्चित करना है सार्थक को एक उभरतीएवं कार्यकारी दस्तावेज के रूप में तैयार किया गया है और यह अपनी प्रकृति में व्यापक तौर पर विचारोत्तेजक/सांकेतिक है साथ ही इसे समय-समय पर हितधारकों से प्राप्त इनपुटों/प्रतिक्रियाओं के आधार पर अद्यतन किया जाएगा सार्थक को राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों, स्वायत्त निकायों और सभी हितधारकों से प्राप्त सुझावों के साथ व्यापक एवं गहन परामर्श प्रक्रिया के माध्यम से विकसित किया गया है उनसे कुल7,177 सुझाव/इनपुट प्राप्त हुए है

ग्रामीण शौचालय सूचि 2021 ऑनलाइन लिस्ट चेक करे 
पीएम सोलर पैनल योजना 2021 ऑनलाइन पंजीयन 
फॉर्म मशीनरी बैंक योजना 2021 ऑनलाइन पंजीयन

8 सितंबर से 25 सितबंर, 2020 तक एनईपी-2020 की विभिन्न सिफारिशों और इसके कार्यान्वयन रणनीतियों के बारे में चर्चा करने के लिए एक शिक्षक उत्सव ‘शिक्षक पर्व’का विशेष तौर पर आयोजन किया गया था इसमें लगभग 15 लाख सुझाव प्राप्त हुए है निशंक ने कहा कि ‘सार्थक’ योजना के तहत कार्यो एवं गतिविधियों को इस तरह से परिभाषित किया गया है ताकि लक्ष्य, परिणाम और समयसीमा का उल्लेख हो. इसमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति की सिफारिशों को 297 कार्यों के साथ जोड़ा गया और जिम्मेदार एजेंसियां एवं समयसीमा भी तय की गई है इन कार्यो के लिये 304 परिणाम निर्धारित किये गए हैं आपको केंद्रीय सार्थक योजना पर शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ट्विट निचे दिया गया है

सार्थक योजना के कार्यान्वयन के बाद संपूर्ण शिक्षा प्रणाली

सार्थक के कार्यान्वयन के बाद संपूर्ण शिक्षा प्रणाली को लेकर निम्नलिखित परिणामों की परिकल्पना की गई है

  • ग्रेड 3 तक गुणवत्ता ईसीसीई और मूलभूत साक्षरता एवं संख्यात्मकता का सार्वभौमिक अधिग्रहण तक पहुंच
  • शुरुआती वर्षों में मातृभाषा/स्थानीय/क्षेत्रीय भाषाओं के माध्यम से शिक्षण और सीखने पर जोर देने के साथ सभी चरणों में सीखने के परिणामों में सुधार करना है
  • शिक्षक शिक्षा कार्यक्रमों की गुणवत्ता में सुधार किया जायेगा
  • राज्यों में एसएसएसए की स्थापना के माध्यम से एक ऑनलाइन, पारदर्शी सार्वजनिक और निजी स्कूलों में सीखने के परिणामों और शासन में समान मानक है
  • सभी चरणों में व्यावसायिक शिक्षा, खेल, कला, भारत का ज्ञान, 21वीं सदी के कौशल, नागरिकता के मूल्य और पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता आदि का एकीकरण करना है
  • उच्च गुणवत्ता और विविध शिक्षण-अधिगम साम्रागी का विकास करना है
  • क्षेत्रीय/स्थानीय/घरेलू भाषा में पाठ्य पुस्तकों की उपलब्धता कराना है
  • स्कूल शिक्षा के लिए नए राष्ट्रीय एवं राज्य पाठ्यक्रम ढांचे, शुरुआती बचपन की देखभाल एवं शिक्षा, शिक्षक शिक्षा एवं वयस्क शिक्षा को एनईपी की भावना के अनुरूप विकसित किया जाएगा और यहपाठ्यक्रम सुधारों के लिए मार्ग प्रशस्त करेगा
  • सभी स्तरों पर सकल नामांकन अनुपात (जीईआर), शुद्ध नामांकन अनुपात (एनईआर), संक्रमण दर एवंप्रतिधारण दर में वृद्धि और ड्रॉप आउट एवं स्कूल तक न पहुंचने वाले बच्चों की संख्या को कम करना है
  • शैक्षणिक योजना एवं शासन में प्रौद्योगिकी का एकीकरण और कक्षाओं में आईसीटी और गुणवत्ता ई-सामग्री की उपलब्धता करना है
  • नवनियुक्त शिक्षकों की गुणवत्ता में सुधार और सतत पेशेवर विकास के माध्यम से क्षमता निर्माण किया जायेगा
  • सभी चरणों में प्रायोगिक शिक्षा का परिचय और कक्षा के संचालन में शिक्षकों द्वारा अभिनव अध्यापन विज्ञान को अपनाना है
  • बोर्ड परीक्षाओं और विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं में सुधार करना है
  • छात्रों एवं शिक्षकों के लिएसुरक्षित, समावेशी और अनुकूल शिक्षण वातावरण होना
  • निर्बाध पहुंच सहित बुनियादी सुविधाओं में सुधार और विद्यालयों के बीच संसाधनों को साझा करना है

सार्थक योजना के लाभ क्या है?

  • सार्थक हमारे बच्चों एवं युवाओं के लिए वर्तमान और भविष्य की विविध राष्ट्रीय एवं वैश्विक चुनौतियों का सामना करने का मार्ग प्रशस्त करेगा और उन्हें राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में भारत की परंपरा, संस्कृति और मूल्य प्रणाली के साथ-साथ 21वीं सदी के कौशल को समझने में सहायता करेगी
  • उदाहरण के लिए यह एनईपी की सिफारिश को जिम्मेदार एजेंसियों, समय-सीमा के साथ 297 कार्य योजनाओं और इन कार्य योजनाओं के 304 परिणाम के साथ जोड़ता है
  • शिक्षा मंत्री ने कहा कि सार्थक पहल पर अमल से 25 करोड़ विद्यार्थियों, 15 लाख स्‍कूलों और 94 लाख शिक्षकों समेत सभी संबंध पक्षों को फायदा होगा
  • श्री पोखरियाल ने कहा कि यह परिकल्पना की गई है कि सार्थक के कार्यान्वयन से 25 करोड़ छात्रों, 15 लाख विद्यालयों, 94 लाख शिक्षकों, शैक्षणिक प्रशासकों, अभिभावकों और समुदाय सहित सभी हितधारकों को इसका लाभ होगा, क्योंकि शिक्षा एक न्यायसंगत और न्यायपूर्ण समाज का आधार है

ऑपरेशन ग्रीन योजना 2021 Operation Green Scheme
वार्ड पंच की सैलरी कितनी मिलती है 
प्रधानमंत्री से शिकायत कैसे करे

सार्थक योजना इन हिंदी

  • सार्थक योजना क्या है?
    • सार्थक योजना 2021 देश के सभी छात्रों और शिक्षको के लिए शरू कि गई एक योजना है 29 जुलाई, 2020 को जारी एनईपी-2020 के लक्ष्यों एवं उद्देश्यों के अनुसरण में और राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को इस कार्य में सहायता करने के लिए स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ने स्कूल शिक्षा के लिए एक निर्देशात्मक और विचारोत्तेजक योजना विकसित की है
  • सार्थक योजना के फायदे क्या है?
    • शिक्षा मंत्री ने कहा कि सार्थक पहल पर अमल से 25 करोड़ विद्यार्थियों, 15 लाख स्‍कूलों और 94 लाख शिक्षकों समेत सभी संबंध पक्षों को फायदा होगा
  • सार्थक योजना को किसने शुरू किया है?
    • केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल जी द्वारा शुरू कि गई है
  • सार्थक योजना में कितने कार्य जोड़े जायेगे?
    • इसमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति की सिफारिशों को 297 कार्यों के साथ जोड़ा गया है.

दोस्तों अगर आप को हमारी यह जानकारी अच्छी लगी है और आप को इसी तरह कि जानकारी को वीडियो के माद्यम से देखना चाहते है तो आप हमारे YUTUBE चेनल पर देख सकते है और पोस्ट अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों को शेयर करना ना भूले धन्यवाद

Leave a Comment

%d bloggers like this: