स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म – लाभ व् पात्रता की जानकारी

By | जनवरी 3, 2021

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana online Apply form , स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आवेदन फॉर्म शुरू , Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana Application Form , स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का लाभ किन लोगो को मिलेगा |

उत्तरप्रदेश सरकार ने प्रदेश के गरीब व् आर्थिक रूप से कमजोर श्रमिक जो किसी कम्पनी या फेक्ट्री में कम करते है उनके लिय इस योजना की शुरुआत की है इस योजना के तहत श्रमिको को राज्य सरकार 12,000 रुपया की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी जिससे राज्य के श्रमिक लोग धार्मिक स्थानों की यात्रा करनेके लिय सरकार ने योजना की घोषणा की है इस योजना का लाभ केवल राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर श्रमिक लोग है जो दिन रात कम्पनी या फेक्त्रियो में काम करते है उनको उत्तरप्रदेश सरकार भ्रमण करने के लिय 12,000 रुपया की सहायता राशी वितरण करेगी इस योजना का लाभ प्रदेश के 6.5 लाख श्रमिक मजदुर है जो प्रदेश की २०,000 से ज्यादा फेक्त्रियो तथा कम्पनियों में कम करते है

उनके लिय ही खास कर इस योजना की शुरुआत की है जिससे उनको भी कही घुमने का मोका मिले जिससे उनकी आत्मा पर जो घर का बुझ है उसको हल्का करने का अवसर मिले चलिय दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा के दस्तावेज , पात्रता , उधेश्य , व् लाभ के बारे में विस्तार से बताते है इसलिय आप आर्टिकल को लास्ट तक पढ़े और योजना का लाभ उठाए

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना 2020

राज्य सरकार ने प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर जो श्रमिक लोग है उनको धार्मिक तीर्थ यात्रा करने का अवसर प्रदान किया है जिससे राज्य के ये श्रमिक लोग उत्तरप्रदेश राज्य में जो तीर्थ स्थान है उनका भ्रमण कर सके इसके लिय राज्य सरकार ने 12,000 रुपया की आर्थिक सहायता राशी वितरण की है इस योजना का लाभ up राज्य के केवल श्रमिक नागरिको को ही मिलेगा जो राज्य की फेक्त्रियो तथा कम्पनियों में दिन रात कम करते है जिनके पास स्वयं की इतनी हेसियत नही की वे घुमने के लिय अपनी जेब से खर्चा कर दे उनके परिवार की स्थति बड़ी दयनीय होती है उनको दो वक्त की रोटी के लिय कम्पनी में दिन रात कम करना पड़ता है

तब जाकर अपने परिवार का गुजरा होता है इन दिन दुखी श्रमिको को तीर्थ यात्रा घुमने के लिय राज्य सरकार ने आमंत्रित किया है जिससे वे मजदुर भाई भी प्रदेश की भ्रमण यात्रा कर सके राज्य सरकार ने प्रदेश के करीब 1,5 करोड़ श्रमिक लोगो को up राज्य के तीर्थ यात्रा स्थलों पर घुमने का मोका प्रदान करेगी आज उत्तरप्रदेश के करीब २० ,000 कम्पनिया तथा फेक्ट्री है जिनमे श्रमिक लोग कम करते है उनको राज्य सरकार एक अवसर प्रदान करने जा रही है

उत्तरप्रदेश रोजगार मिशन योजना

योजना का नाम स्वामी विवेकानंद तीर्थ यात्रा योजना
लाभार्थी up राज्य के सभी श्रमिक मजदुर
उधेश्य श्रमिको को फ्री में धार्मिक स्थानों की भ्रमण करवाना है
आर्थिक सहायता राशी 12,000
ऑफिसियल वेबसाइट https://sewayojan.up.nic.in/

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के धार्मिक स्थल कोन कोन से है

अगर हम उत्तरप्रदेश के धार्मिक स्थलों की बात करे तो up राज्य में देश के अलग राज्यों से कही ज्यादा धार्मिक तीर्थ स्थल है जिसमे प्रमुख तीर्थ स्थल है जो इन श्रमिको के लिय राज्य सरकार ने यात्रा को बनाया है इन श्रमिक लोगो को 12,000 रुपया की जो राशी प्रदान की जाएगी उन रुपयों से राज्य सरकार प्रदेश के इन शहरों की तीर्थ यात्रा करवाएगी जो इस प्रकार है –

  • अयोध्या
  • मथुरा
  • काशी
  • वृन्धावन
  • कुंभ का कुंड
  • अंकलेश्वर महादेव तीर्थ यात्रा
  • प्रयागराज
  • वाराणसी
  • हस्तिनापुर (मेरठ)
  •  गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर
  • शाकुंभरी देवी तथा वैष्णो देवी मंदिर

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना मुख्य उधेश्य क्या है

राज्य सरकार का मुख्य उधेश्य है की प्रदेश के वे गरीब श्रमिक लोग जो आज तक प्रदेश के किसी भी तीर्थ स्थल की यात्रा नही की है क्योकि उनके पास धन राशी का आभाव रहता है और न ही उनके पास समय होता है की वे प्रदेश की धार्मिक स्थानों की यात्रा करे इसके लिय राज्य सरकार ने 12,000 रुपया का आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है जिससे ये श्रमिक नागरिक इन धार्मिक स्थानों की यात्रा कर सके राज्य सरकार ने प्रदेश के करीब 6.5 लाख श्रमिक लोगो को इस साल धार्मिक स्थानों की यात्रा करवाने का निश्चय किया है ये श्रमिक लोग प्रदेश की २०,000 कम्पनियों तथा फेक्त्रियो में कम करते है

तभी इस उत्तरप्रदेश राज्य की अर्थव्यवस्था को बनाए रखने में राज्य के श्रमिको का बड़ा योगदान होता है राज्य सरकार ने इस योजना की शुरुआत अप्रेल 2020 से प्रदेश में लागु की है इस योजना का लाभ उत्तरप्रदेश राज्य के करीब 1.5 करोड़ श्रमिक मजदूरो को धार्मिक तीर्थ यात्रा का भ्रमण करवाने की घोषणा की है जिससे श्रमिक लोग अपने मन की शांति को बनाए रखे

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना से होने वाले लाभ किस प्रकार है

इस तीर्थ यात्रा योजना का लाभ केवल up राज्य के स्थानीय श्रमिको को ही दिया जाएगा

इस योजना के तहत राज्य सरकार प्रदेश के मजदूरो को 12,000 रुपया की आर्थिक सहायता राशी केवल भ्रमण करने के लिय प्रदान करेगी

उत्तरप्रदेश सरकार ने श्रमिको को लाभ पहुँचाने के लिय और भी ऐसी योजनाए है जिसका लाभ प्रदेश के केवल श्रमिक मजदुर भाई है उनको ही मिलेगा

आज उत्तरप्रदेश राज्य में फेक्त्रियो तथा कम्पनियों की बात करे तो करीब २०,000 है जिनमे up राज्य के स्थानीय श्रमिक लोग है जो इन कम्पनियों में कम होता है वो सब कार्य ये श्रमिक लोग करते है उनके लिय उत्तरप्रदेश सरकार ने तीर्थ यात्रा धामिक स्थानों के भ्रमण करने के लिय शुरू की है

इस योजना का लाभ उत्तरप्रदेश राज्य के करीब 6.5 लाख श्रमिक मजदूरो को दिया जा रहा है अप्रेल 2020 तक

इस यात्रा योजना के तहत 2021 तक करीब 1.5 करोड़ श्रमिक मजदुर है जो कम करने वाले है कम्पनियों में उन सबको स्वामी विवेककंद तीर्थ यात्रा योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की दस्तावेज व् पात्रता

  • आवेदक up राज्य का स्थाई निवासी होना जरुरी है
  • आवेदक के पास श्रमिक मजदुर कार्ड होना अनिवार्य है
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • मुलनिवास प्रमाण पत्र
  • जाती प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • बैंक खता पासबुक सहित
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

इस योजना के तहत उत्तरप्रदेश राज्य का कोई भी श्रमिक मजदुर भाई अपना आवेदन करना चाहते है तो वे हमारे द्वारा बताई गई दिशा निर्देशों के अनुसार ही फॉर्म को apply करे ताकि आपको योजना का लाभ लेने में कोई भी परेशानी ना हो

आवेदक को पहले इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर इस योजना से समम्धित एक एप्लीकेशन फॉर्म को download करना होता है

उसके बाद इस एप्लीकेशन फॉर्म को प्रिंट के रूप में बाहर निकलना होता है फॉर्म को आप अपने दस्तावेजो में मिलन करके सही तरीके से भर लेना है

फॉर्म को भरने के बाद ऊपर बताए गए सभी दस्तावेजो की एक एक प्रतिलिपि को फॉर्म के साथ अटेच कर लेना है और फॉर्म को श्रमिक विभाग की ऑफिस में जमा करवाना है

कुछ दिन बाद श्रमिक विभाग की और से मोबाइल नंबर पर सुचना भेज दी जाएगी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *