तहसीलदार और नायब तहसीलदार की सैलरी कितनी होती है The Salary Of Tahasildar And Sub Tahasildar जानकारी हिंदी में

तहसीलदार की सैलरी कितनी होती है , उप तहसीलदार की सैलरी कितनी होती है , The Salary Of Tahasildar And Sub Tahasildar ,How Much The Salary Of Tahasildar In Hindi

तहसीलदार की सैलरी – एक तहसीलदार की सैलरी की बात करे तो सभी राज्यों के तहसीलदार को अलग अलग वेतन मिलता है भारत देश में 29 राज्य है और इन सभी राज्यों में अनेको जिले है और इन अनेको जिलो में बहुत सी तहसील है उस तहसील का प्रशासनिक अधिकारी तहसील का तहसीलदार होता है तहसील दार को एक तहसील की जनता पर विश्वास बनाए रखने के लिय अनेको कठोर कदम उठाने पड़ते है जनता को विश्वास दिलाना पड़ता है तहसीलदार की जिमेदारी बनती है की तहसील की आर्थिक सामाजिक एवं शारीरिक गतिविधियों का सम्पूर्ण ध्यान उनकी देख रेख में होता है

तो चलिय दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल में हम आपको तहसीलदार व् उप तहसीलदार की सैलरी के बारे में तथा तहसील दार कैसे बनते है और क्या इसकी योग्यता होती है इन सब बातो की जानकारी को विस्तार से वर्णन करने जा रहे है इसलिय आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़े और जानकारी को प्राप्त करे

तहसीलदार तथा उप तहसीलदार की सैलरी कितनी होती है

एक तहसील का तहसीलदार बनने के लिय देश का कोई भी युवा साथी कम से कम ग्रेजुएशन पास होना अनिवार्य है और इसके साथ उसकी आयु भी 21 साल से 42 साल के बिच होनी चाहिय उसके बाद 4 प्रकार की परीक्षाओ में पास होने के पश्चात् ही तहसीलदार बनने का अवसर मिलता है अगर हम तहसीलदार की सैलरी की बात करे तो उसकी बेसिक सैलरी तो शुरूआती समय में 9200 रु से 34 ,800 रुपया तक होती है

लेकिन जब उनकी ट्रेनिंग का समय पूरा होने के पश्चात् उनकी सैलरी में 5400 रुपया ग्रेड पे शामिल हो जाता है और अनेको भत्ते होते है और इन भत्तो में da , pa alounce आदि भत्ते भी शामिल होते है अगर हम टोटल सैलरी की बात करे तो करीब 78,000 रुपया से लेकर 1,20,000 रुपया तक बनती है जो एक केन्द्रीय मंत्री की पोस्ट के बराबर मिलता है

तहसीलदार कैसे बने

जिला कलेक्टर की सै
री कितनी होती है

आर्टिकल किसके बारे मेंतहसीलदार एवं उप तहसीलदार के वेतन के बारे में जानकारी
तहसीलदार की वेतन34,800 रुपया से लेकर 1,20,000 रुपया तक होती है
तहसील दार का पेपर कोनसा बोर्ड करवाता हैupsc board
ग्रेड पे कितना होता है54,00 रुपया
तहसीलदार किस ग्रेड की नोकरी होती हैग्रेड 2 nd

तहसीलदार और उप तहसीलदार में क्या अंतर है (तहसीलदार तथा उप तहसीलदार की सैलरी)

तहसीलदार की सैलरी – एक तहसीलदार और उप तहसीलदार के बिच अंतर को हम जाने तो कोई खास अंतर नही है क्योकि अगर तहसील में तहसीलदार किसी कारण वश कोई कम की वजह से तहसील से बाहर गए भाई तब उनके जो भी कार्य है वो उप तहसीलदार द्वारा पूर्ण होता है लेकिन राजस्व विभाग ने इस पद को तहसीलदार एवं उप तहसीलदार में विभक्त कर दिया है

लेकिन कोई खास अंतर नही है अगर हम उनकी सैलरी की बात करे तो तहसीलदार की शुरूआती समय में जो सैलरी 9200 से 34,800 रुपया है वो ही वेतन एक उप तहसीलदार की होती है जो सेवा तहसीलदार को मिलती है जैसे गाड़ी बढ़िया मकान घर की व्यवस्था और पुलिस प्रोटेक्शन होता है वो समान रूप से ही उप तहसीलदार को मिलता है मगर राज्य सरकार ने तहसीलदार की इस पोस्ट को दो भागो में वर्गीकृत किया गया है

तहसीलदार का ग्रेड पे कितना होता है

अगर हम तहसीलदार के ग्रेड पे की बात करे तो पहरे राज्य सरकार द्वारा राजस्व विभाग की और से 4200 रुपया दिया जाता था मगर अभी इस सातवे वेतन के बाद तहसीलदार के वेतन में बढ़ोतरी करने की मांग उच्च न्ययालय की और से दी थी अभी वर्तमान में तहसीलदार का ग्रेड पे 5400 रुपया ग्रेड पे दिया जाता है ग्रेड पे एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी को बढ़ने में बहुत ज्यादा योगदान देता है ग्रेड पे के अनुसार ही एक कर्मचारी की सैलरी का पता चलता है

तहसीलदार की कार्य गतिविधि किस प्रकार है

तहसीलदार एक तहसील का प्रशासनिक सेवा क्षेत्र का अधिकारी होता है जिसे राजस्व विभाग द्वारा कई परीक्षाओ को पास करने बाद इस पद पर न्युक्त किया जाता है तहसीलदार की सैलरी की हम बात करे तो उनकी सैलरी का बेसिक वेतन करीब 35,000 रुपया का आस पास होता है मगर उनको अलग से कुछ भत्ते दिय जाते है जो एक राज्य सरकार द्वारा प्रदान होते है और तहसीलदार अपनी तहसील में जो भी गतिविधिया है जैसे किसानो की आर्थिक स्थति के बारे में तथा हॉस्पिटल , खेल कूद , वाहन परिवन साधनों का , खुमी क्षेत्रो के बारे में तथा राज्य में जो भी भ्रष्टाचार वाले कोई भी कार्य है

उन पर तुरन्त कार्यवाही पुलिस के साथ लेकर उनका हल निकालना तहसील के तहसील दार का कार्य होता है उनके और भी बहुत से कार्य होते है सरल भाषा में बताए तो एक तहसील की जो भी किसी प्रकार की अच्छी या बुरी घटनाओ एवं उनकी उप्लान्धियो की जानकारी को जनता तक पहुँचाने का कार्य एक तहसीलदार का होता है

तहसीलदार के कार्य – तहसीलदार की सैलरी

तहसीलदार के क्या-क्या कार्य होते है उन सभी कार्यो कि लिस्ट निम्न प्रकार है

  • तहसीलदार और नायब-तहसीलदार राजस्व प्रशासन में प्रमुख अधिकारी हैं
  • तहसीलदार अपनी तहसील कि भूमि का निर्कष्ण करता है
  • भू-राजस्व व फसल उगाही
  • सरकारी भूमि पर वृक्षों की कटाई का विनियमन करता है
  • राजस्व अभिलेखों का प्रतिलिपियों का का प्रदाय आदि।
  • आदिम जनजाति के भू-स्वामियों का हित संरक्षण।
  • तहसीलदार ऊप तहसीलदार और पटवारी का एक जगह से दुरी जगह ट्रांसफॉर कर सकता है और उनके पद को भी बड़ा कर सकता है
  • सरकारी जमीनो का सही तरीके से लेखा जोखा रखता है
  • नगरीय भूमि सीमा अधिनियम के प्रभाव में शासन हित में प्राप्त शहरी रिक्त भूमियों से आय / आवंटन।
  • तहसीलदार और नायब-तहसीलदार को अपने क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर दौरा करना पड़ता है। 
  • वे मुख्यतः कर्तव्यों के लिए जिम्मेदार हैं।

तहसीलदार बनने की योग्यता क्या है – तहसीलदार की सैलरी

  • तहसीलदार बनने के लिय आवेदक भारत देश का मूलनिवासी होना जरुरी है
  • आवेदक की शेक्षणिक योग्यता के बारे में बात करे तो वो कम से कम ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन पास होना जरुरी है
  • आवेदक की आयु फॉर्म को भरने के लिय उनकी आयु 21 साल से 42 साल के बिच होनी चाहिय
  • तहसीलदार बनने के लिय युवा के ऊपर कोई भी पुलिस केश या अपराध से दण्डित नही होना चाहिय
  • तहसीलदार के लिय आपको upsc की परीक्षाओ को पास करना पड़ता है उसके बाद इसी upsc अधिकारियो के बिच interview किया जाता है उसके बाद सिलेक्शन बेस पर चयन किया जाता है

दोस्तों अगर आप को यह जानकारी अच्छी लगी है और आप इसी तरह कि जानकरी को वीडियो के माद्यम से देखना कहते है तो आप हमारे youtube चेनल (सरकारी योजना) पर जाकर देख सकते है अगर दोस्तों वीडियो कि जानकारी आपको अच्छी लगी है तो आप हमारे चेनल को सब्सक्राइब करे और गंटे का निशान पर क्लिक कर देना जिससे आप को हर रोज नई- नई योजनाओ कि जानकारी प्राप्त होती रहे

Leave a Comment

%d bloggers like this: