उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ,योजना से केसे सुधर रहा है लिंगानुपात,क्या है योजना और केसे करे आवेदन

प्रदेश मे कन्या भ्रूण ह्त्या को रोकने के लिए यूपी सरकार ने भाग्यलक्ष्मी योजना को चालू किया है प्रदेश की गरीब परिवार की बटियो की आर्थिक मदद के लिए इस योजना को शुरू किया गया है भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत बेटी के जन्म के टाइम उसे 50,000 रुपए की आर्थिक मदद दी जाती है और इसके साथ ही बेटी की माँ को 5100 रुपए की आर्थिक मदद दी जाती है उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश मे कन्या भ्रूण हत्या जेसे मामलो को रोकना है

इस आर्टिकल मे हम पढ़ेगे की उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना क्या है उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना का उद्देश्य क्या है उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के लिए आवेदन केसे करे और इसके लिए पात्रता और डॉक्युमेंट्स क्या है इन सब के बारे मे जानकारी लेने के लिए आप बने रहिए हमारे साथ

uttar-pradesh-bhagya-laxmi-yojana
उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ,योजना से केसे सुधर रहा है लिंगानुपात,क्या है योजना और केसे करे आवेदन

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना क्या है

इस योजना के तहत प्रदेश की गरीब बटियो को उसके जन्म के समय 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी जाती है इसके लिए आवेदक का एक बैंक अकाउंट होना चाहिए योजना के तहत मिलने वाली राशि सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट मे आती है योजना के तहत जब बेटी 6th क्लास मे आ जाएगी तब उसके माता पिता को 3000 रुपए ,8th क्लास मे आने पर 5000 रुपए ,10th मे आने पर 7000 रुपए और 12th मे आने पर 8000 रुपए आर्थिक मदद के रूप मे मिलते है उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत लड़की जब 21 साल की उम्र होने तक उसके माता पिता को 2 लाख रुपए की धन राशि वितिय सहायता के रूप मे दी जाती है यह योजना महिला और बाल विकास विभाग के द्वारा जुड़ी हुई है

Read also : उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना,मुखबिर बनने पर सरकार योजना के तहत 2 लाख रुपए तक का देगी इनाम ,जाने क्या है योजना

Uttar Pradesh Bhagyalakshmi Scheme highlights

योजना का नामभाग्यलक्ष्मी योजना
स्थानउत्तर प्रदेश
उद्देश्यबेटियो को आर्थिक मदद देना
योजना का प्रकारCM योजना
ओफ़्फ़िसियल वैबसाइटhttp://mahilakalyan.up.nic.in/
Updateअगस्त 2020

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना का उद्देश्य

देश मे एसे बहुत लोग अब भी है जो बेटियो को बोझ समझते है और बेटी के पेदा होने से पहले ही उसे मार देते है बहुत से परिवार एसे भी है जिनकी आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर होती है और वे बटियो को एक बोझ के रूप मे देखते है इसका नतीजा यह हुआ की प्रदेश मे बेटियो की संख्या कम हो रही है ये बेटियाँ बोझ न लगे इसी बात को ध्यान मे रखते हुये यूपी सरकार ने भाग्यलक्ष्मि योजना की शुरुवाता की है इस योजना से एक सबसे बड़ा फायदा यह भी होगा की इससे प्रदेश मे कन्या भ्रूण हत्या जेसे अपराध कम होंगे योजना से राज्य के पूरूष-महिला लिंगानुपात मे भी सुधार होगा

बेटियो को उनकी पढ़ाई के विभिन स्तर पर आर्थिक मदद दी जाएगी बेटियाँ आत्मनिर्भर बनेगी

योजना से मिलने वाले लाभ

  • यह योजना खास उन बेटियो के लिए है जो आर्थिक रूप से कमजोर है
  • इस योजना के तहत बेटी के जन्म के समय 50 हजार रुपए की धनराशि दी जाती है और बेटी की माँ को 5100 रुपए की धनराशि दी जाती है
  • लड़की के 21 साल के होने के बाद 2 लाख रुपए योजना के तहत बेटी के माता पिता को दिये जाएगे
  • एक परिवार की दो बेटियाँ ही इस योजना का लाभ ले सकती है
  • योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी है की बेटी को शिक्षा प्राप्त करने के लिए सरकारी शिक्षण संस्थान मे ही दाखिला लेना होगा

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के लिए पात्रता

  • योजना के तहत जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने बच्चे के जन्म के 1 साल तक जन्म नामांकन किया जाना चाहिए
  • आवेदन कर्ता के परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रुपए से कम होनी चाहिए
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवाशी होना चाहिए
  • साथ मे यह भी जरूरी है की बच्ची की स्वास्थ्य विभाग मे रोग प्र्तिरक्षा को चेक करना
  • योजन के तहत 31 मार्च 2006 के बाद गरीबी रखा से नीचे (BPL) परिवार मे जन्म लेने वाली सभी बेटियाँ इस योजना के लिए पात्र है

जरूरी डॉक्युमेंट्स

  • आय प्रमाण पत्र
  • जाती प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • माता पिता का आधार कार्ड
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक अकाउंट पासबूक

योजना के तहत दिया जाने वाला एफ्फिडेविट

  • लड़की की शादी 18 साल के बाद ही होनी चाहिए
  • अगर लड़की नवजात है तो उससे बल श्रम नहीं करवाया जाएगा
  • बेटी को शिक्षा प्राप्त करने के लिए सरकारी शिक्षण संस्थान मे जाना होगा
  • लकड़ी का जीवन बीमा करना होगा जो की जरूरी है

योजना के लिए आवेदन केसे करे

अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको इस योजना के लिए आवेदन करना होता है आवेदन करने के लिए आपको महिला और बाल विकास विभाग की आधिकारिक वैबसाइट http://mahilakalyan.up.nic.in/ पर जाना होता है

महिला और बाल विकास विभाग

वेबसाइट पर आने के बाद आप भाग्य लक्ष्मी योजना का फोरम डाउनलोड कर सकते है फॉर्म डाउनलोड करने के लिए Click किजिये

अप्लीकेसन फॉर्म

इस फॉर्म को डाउनलोड करने के बाद आपसे मांगी गयी जानकारी इसमे आपको भरनी होती है वो भी एकदम से सही सही सभी जानकारी इसमे भरने के बाद आपको अपने बताए गए सारे डॉक्युमेंट्स इसमे अटेच करने होते है यह फॉर्म आपको अपने नजदीकी आँगनबाड़ी केंद्र या नजदीकी महिला कल्याण विभाग के ऑफिस मे जमा कराना होता है और आपका आवेदन पूरा हो जाता है

योजना से जुड़े हुये कुछ सवाल

Q. उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना क्या है ?

Ans. इस योजना के तहत सरकार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की बटियो को आर्थिक मदद देती है उनके जन्म के समय 50 हजार की आर्थिक मदद बेटी को दी जाती है और उसकी माँ को 5100 रुपए की आर्थिक मदद दी जाती है बेटी को सरकार उसकी पढ़ाई के लिए अलग अगल टाइम पर यह धनराशि सीधे उसके बैंक अकाउंट मे डालती है

Q. योजना के तहत बेटी के पढ़ाई के टाइम किस प्रकार से सरकार आर्थिक मदद देती है ?

Ans. इस प्रकार से दी जाती है आर्थिक मदद :-

  • 6th क्लास मे परवेश लेने पर – 3000 रुपए
  • 8th क्लास मे – 5000 रुपए
  • 10th क्लास मे – 7000 रुपए
  • 12th क्लास मे – 8000 रुपए की आर्थिक मदद देती है
  • बेटी के 21 साल होने तक 2 लाख रुपए की मदद उसके परिवार को दी जाती है

यह भी पढे :- UPSSSC 10 + 2 जूनियर सहायक विशेष भर्ती 2017 टाइपिंग परीक्षा परिणाम 2020

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *