उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ Uttra Prdesh Labour Card Benefit 2021

श्रमिक कार्ड के लाभ, श्रमिक कार्ड के फायदे, उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड योजना, Labour Card Benefit, उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड योजनाए, Sharmik Card Ke fayde, उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ क्या है, Labour Card Benefit UP, श्रमिक कार्ड से क्या लाभ मिलता है, श्रमिक कार्ड के लाभ उत्तर प्रदेश, यूपी श्रमिक विभाग की योजनाएं

श्रमिक कार्ड के लाभ, श्रमिक कार्ड के फायदे, उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड योजना, Labour Card Benefit, उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड योजनाए, Sharmik Card Ke fayde, उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ क्या है, Labour Card Benefit UP, श्रमिक कार्ड से क्या लाभ मिलता है, श्रमिक कार्ड के लाभ उत्तर प्रदेश, यूपी श्रमिक विभाग की योजनाएं
उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ

Table Of Content

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ:-

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी मजदूरो के लिए बहुत सी योजनाओ को शुरू कर रही है जिनका का लाभ प्रदेश के सभी पंजीकर्त श्रमिको को दिया जाता है. इसमें बहुत सी योजनाओ को श्रमिक और श्रमिक के परिवार के सदस्य(पत्नी, लड़का, लड़की) को दिया जाता है. सरकार द्वारा मजदुर को चिकित्सा, आवास, शोचालय और अपने बच्चो को अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के लिए श्रमिक के बच्चो को छात्रव्रत्ति योजनाओ का लाभ दिया जाता है.

साथ में श्रमिक को पेंशन और बेटियों के विवाह पर सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान कि जाती है. आज हम आपको इस आर्टिकल के मध्यम से उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड से मिलने वाले सभी लाभ और सभी श्रमिक कार्ड कि योजनाओ कि जानकारी को देगे जिनका आप आसानी से ऑनलाइन आवेदन करके लाभ ले सकते है.

Uttra Prdesh Labour Card Benefit:-

श्रमिक विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा श्रमिको कि आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए श्रमिक योजनाओ को शुरू किया जा रहा है जिससे श्रमिको कि आर्थिक स्थिति मजबूत होगी. अभी उत्तर प्रदेश सरकार ने मजदूरो के लिए कोरोना महामारी में भरण पोषण भत्ता योजना को शुरू किया था जिमसे श्रमिको को 1000 रुपये कि आर्थिक सहायता दी गई है.

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू कि गई सभी श्रमिक योजनाओ का लाभ उन्ही मजदूरो को दिया जाता है जिनका लेबर कार्ड बना हुआ है वो श्रमिक उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड कि अधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है.

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड कि योजनाए:- UP Labour Department Scheme List

उत्तर प्रदेश लेबर कार्ड योजनाओ कि लिस्टयोजना का आवेदन करने के लिए निचे लिंक पर क्लिक करे
मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजनाPDF Download
संत रविदास शिक्षा सहायता योजनाPDF Download
मेधावी छात्र पुरस्कार योजनाPDF Download
आवासीय विद्यालय योजनाPDF Download
कौशल विकास, तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजनाPDF Download
सौर उर्जा सहायता योजनाPDF Download
कन्या विवाह अनुदान योजनाPDF Download
आवास सहायता योजनाPDF Download
शौचालय सहायता योजनाPDF Download
चिकित्सा सुविधा योजनाPDF Download
आपदा राहत सहायता योजनाPDF Download
महात्मा गाँधी पेन्शन योजनाPDF Download
गम्भीर बीमारी सहायता योजनाPDF Download
मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजनाPDF Download
अन्त्येष्टि सहायता योजनाPDF Download
प0 दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजनाPDF Download

मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना:-

प्रदेश सरकार द्वारा मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना को राज्य कि महिला श्रमिको के लिए शुरू किया गया है जिसमे गर्भवती श्रमिक महिलो को आर्थिक सहायता प्रदान कि जाती है. इस योजना के तहत तहत गर्भवती महिला यदि लडके को जन्म देती है तो उसे 20 हजार रूपये की धनराशी प्रदान की जाती है. और महिला लडकी को जन्म देती है तो उसे 25 हजार रूपये की राशि दी जाती है साथ में यदि घर में 2 बेटियाँ जन्म लेती है तो उन्हें 25-25 हजार रूपये की राशि दी जाती है इस योजना से समन्धित अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. – PDF Download

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना:-

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिको के बच्चो को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए छात्रवृति प्रदान कि जाती है जो कक्षा 1 से 12 तक के सभी बच्चो को प्रतिमाह छात्रवृति दी जाती है जो आपको निचे टेबल में दी गई है.

.1कक्षा 1 से लेकर 5 वीं तक के बच्चों को100 रूपये हर महीने छात्रवृति प्रदान की जायेगी
2.6 से लेकर 8 वीं तक के बच्चों को150 रूपये हर महीने
3.9 से लेकर 10 वीं कक्षा के बच्चों को200 रूपये हर महीने
4.11 से 12 वीं कक्षा के बच्चों को250 रूपये प्रति महिना छात्रवृति दी जायेगी
5.कोलेज या फिर ITI करने वाले बच्चों को हर महीने500 रूपये की राशि प्रदान की जायेगी
6.पोलोटेकनिक करने वाले बच्चे800 रूपये हर महीने
7.इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले बच्चों को3000 रूपये
8.मेडिकल लाइन की तैयारी करने वाले बच्चों को5000 रूपये की धनराशी हर महीने छात्रवृति दी जायेगी

मजदूरो को संत रविदास शिक्षा सहायता योजना से समन्धित अधिक जानकारी के लिए PDF Download इस लिंक पर जाये.

मेधावी छात्र पुरस्कार योजना उत्तर प्रदेश:-

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ – उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मेधावी छात्र पुरस्कार योजना को शुरू करने का उदेश्य प्रदेश में सभी श्रमिको के बच्चो को उच्च शिक्षा प्राप्त करना है जिसके लिए सरकार इस योजना के तहत छात्रव्रत्ति प्रदान करके आर्थिक सहायता दी जाएगी आपको मेधावी छात्र पुरस्कार योजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशी को निचे विस्तार से दिया गया है.

  • योजना के तहत कक्षा 5 से 7 वीं कक्षा तक के बच्चों को 4000 रूपये दिए जाते है जो दो किस्तों में प्रदान की जाती है इसके लिए बच्चे के कम से कम 70% अंक आने जरूरी है.
  • मेधावी छात्र पुरस्कार योजना के अंतर्गत जो बच्चे 8वीं कक्षा में पढ़ते है उनके 70% अंक आने जरूरी है इसके लिए उन्हें 5 हजार रूपये से लेकर 5500 रूपये तक की राशि दी जाती है.
  • 9 और 10 कक्षा में पढने वाले बच्चों को 5000 से 5500 रूपये तक की धनराशी दी जाती है इसके लिए उनके 60 आने जरूरी माने गये है.
  • कक्षा 11 और 12 वीं में पढने वाले श्रमिको के बच्चों को 8 हजार रूपये से लेकर 10 हजार रूपये तक की प्रोत्साहन राशि दी जाती है इसके लिए बच्चे को उतीर्ण कक्षा में 60% अंक लाने जरुरी है.
  • ग्रेजुएसन, पोस्ट ग्रेजुएसन, LLB, ITI या फिर इंजीनियरिंग करने वाले बच्चों को इस योजना के तहत 10 हजार रूपये से लेकर 22000 रूपये तक की राशि दी जाती है. इस योजना का लाभ लेने के लिए उनके 60 होने जरूरी है तभी वो इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते है.
  • मजदूरो को मेधावी छात्र पुरस्कार योजना से समन्धित अधिक जानकारी के लिए PDF Download इस लिंक पर जाये.

आवासीय विद्यालय योजना:-

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना का लाभ प्रदेश के पंजीकर्त श्रमिको के बच्चो को ही दिया जाता है इस योजना के अंतर्गत अनाथ बच्चों को रहने और खाने की व्यवस्था के लिए छात्रावास सेवा का लाभ दिया जाएगा. उत्तरप्रदेश सरकार की तरफ से राज्य में 18 स्थानों पर ऐसे विद्यालयों के निर्माण किये जायेगे. जहां पर बच्चों को निशुल्क शिक्षा के लिए प्रवेश दिया जाएगा श्रमिक आवासीय विद्यालय योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. – आवासीय विद्यालय योजना का आवेदन करे

कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना:-

प्रदेश सरकार द्वारा मजदूर वर्ग के लोगों को कौशल विकास मिशन के तहत प्रशिक्षण प्रदान कराने के उदेश्य से शुरू किया गया है सरकार द्वारा कौशल विकास मिशन द्वारा निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा. पंजीकृत श्रमिक द्वारा स्वयं प्रशिक्षण प्राप्त करने की दशा में अकुशल श्रमिक का न्यूनतम वेतन के समतुल्य धनराशि की प्रतिपूर्ति की जायेगी.

आश्रितों के सन्दर्भ में उसकी पत्नी की कोई आयु सीमा नियत नहीं हैअविवाहित पुत्री की कोई अधिकतम आयु सीमा नियत नहीं है आश्रित पुत्र की अधिकतम आयु 21 वर्ष है. श्रमिक कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना से समन्धित अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गये लिंक पर क्लिक करे. – PDF Download

सौर उर्जा सहायता योजना:-

इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ऐसे श्रमिक जिनके घरो में बिजली कनेक्शन नही है उन सभी श्रमिको को सौर सयंत्र उपलब्ध कराना है. जिसमे योजना के अन्तर्गत 02 एल0ई0डी0 बल्ब, 01 डी0सी0 टेबल फैन, 01 सोजर पैनल, चार्जिंग कन्ट्रोलर, 01 मोबाइल चार्जर स्थापित किया जाना है इस योजना का लाभ उन्ही मजदूरो को दिया जाता है. जिनका लेबर कार्ड बना हुआ है और आवेदक के परिवार में केवल एक व्यक्ति को ही मात्र एक बार ही दी जायेगी सौर उर्जा सहायता योजना का आवेदन करने के लिए निचे दिए गये लिंक पर क्लिक करे. – ऑनलाइन आवेदन करे

कन्या विवाह अनुदान योजना:-

श्रमिक विभाग द्वारा कन्या विवाह अनुदान योजना को शुरू करने का उदेश्य प्रदेश के सभी श्रमिको को अपनी बेटियों के विवाह पर आर्थिक सहायता प्रदान करना है. जिसमे इस योजना के अंतर्गत निर्धारित मानको के पूर्ण करने पर नया आवास बनाने अथवा क्रय करने हेतु 1,00,000 रूपये की धनराशि दी जाएगी. और 15,000 रूपये की धनराशि पूर्व में उपलब्ध आवास की मरम्मत करने हेतु अनुदान के रूप में प्रदान की जायेगी. इस योजना के तहत एक ही लाभार्थी को एक साथ दोनों लाभ नही ले सकता है योजना का ओंलिनेद आवेदन करने के लिए निचे दिए गये लिंक पर क्लिक करे. – ऑनलाइन आवेदन करे

शौचालय सहायता योजना:-

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शौचालय सहायता योजना को श्रमिको को पक्के शोचालय का निर्माण करने पर आर्थिक सहायता प्रदान करने के उदेश्य से शुरू किया गया है. जिसमे श्रमिको को शौचालय का निर्माण करने पर 12000 रूपये कि सहायता राशी दी जाती है यह सहायता राशी श्रमिको के बैंक खाते में भेजी जाएगी. जो दो किस्ते में दी जाएगी जिसमे पहली क़िस्त श्रमिको को शौचालय का निर्माण शुरू करने पर और शौचालय का निर्माण हो जाने पर दूसरी क़िस्त भेजी जाएगी.

लाभार्थी के पास आधार पंजीयन एव राश्ट्रीकृत बैंक में सी0बी0एस0 ब्रान्च में एकाउन्ट होना अनिवार्य है जिसमे श्रमिकों का चयन जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा पंजीकृत श्रमिकों की सूची में से बेसलाइन सर्वें से मिलान करने के उपरान्त किया जायेगा. योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए निचे दिए गये लिंक पर क्लिक करे. – ऑनलाइन आवेदन करे

चिकित्सा सुविधा योजना:- उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ

श्रम विभाग द्वारा श्रमिको के चिकित्सा कि सुविधा को प्रदान करने के उदेश्य से इस योजना को शुरू किया गया है. इस योजना के अन्तर्गत विवाहित निर्माण श्रमिक को प्रत्येक वर्ष 3000 रूपये तथा अविवाहित निर्माण श्रमिक को 2000 रूपये की धनराशि उसके बैंक खाते में सीधे बोर्ड द्वारा स्वीकृति होगी योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक का लेबर कार्ड बना हुआ होना जरुरी है.

इस योजना का लाभ पति अथवा पत्नी में से एक ही आवेदन करके ले सकता है आवेदन करने वाले श्रमिक का बैंक खाता होना जरुरी है. बैंक खाता श्रमिक के आधार कार्ड से लिंक होना जरुरी है श्रमिको को चिकित्सा सुविधा योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे. – ऑनलाइन आवेदन करे

UP Labour Department Scheme Hilight

योजना उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ
राज्य उत्तर प्रदेश
लाभ प्रदेश के सभी पंजीकर्त श्रमिक
उदेश्य श्रमिको को योजनाओ कि जानकारी देना है
अपडेट 2021
ऑफिसियल वेबसाइट http://upbocw.in/

आपदा राहत सहायता योजना:-

इस योजना के तहत अद्यतन पंजीकृत निर्माण श्रमिक को एकमुश्त 1000 की धनराशि वार्षिक/अर्द्धवार्षिक/त्रैमासिक/ मासिक के रूप में, जैसा कि केन्द्र/राज्य सरकार अथवा बोर्ड द्वारा विहित किया जाये. आर्थिक सहायता के रूप में बैंक खातों में देय होगी इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी श्रमिको के लिए कोरोना महामारी को देखते हुए शुरू किया गया है.

जो कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुये बनायी गयी योजना है इस योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक का बैंक खाता होना जरुरी है. साथ में योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को ऑनलाइन आवेदन करना होगा आपदा राहत सहायता योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिएय आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे. – ऑनलाइन आवेदन करे

महात्मा गाँधी पेन्शन योजना:-

उतरा प्रदेश सरकार द्वारा महात्मा गाँधी पेन्शन योजना को प्रदेश के सभी श्रमिको को प्रतिमाह आर्थिक सहायता प्रदान करने के उदेश्य से शुरू किया गया है. जिसमे श्रमिको को प्रतिमाह 1000 रूपये कि पेंशन दी जाएगी इस योजना में दी जाने वाली पेंशन को हर 2 वर्ष बाद 50 रूपये बढ़ाया जायेगा. जो अधिकतम 1250 रूपये तक बढाई जाएगी योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक का लेबर कार्ड बना हुआ होना जरुरी है साथ में इस योजना का लाभ उन्ही मजदूरो को दिया जाता है.

जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक हो गई है और मजदुर का लेबर कार्ड बनाये हुए 10 वर्ष हो चुके है उन्ही श्रमिको को इस योजना का लाभ दिया जायेगा. इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर रहा लाभार्थी को केन्द्र/ राज्य सरकार के किसी भी विभाग द्वारा संचालित किसी भी पेन्शन योजना (राज्य कर्मचारी बीमा निगम तथा म्च्थ्व् को छोड़कर) का लाभ प्राप्त न हो रहा हो. योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यह क्लिक करे. – ऑनलाइन आवेदन करे

गम्भीर बीमारी सहायता योजना:-

सरकार द्वारा प्रदेश में ऐसे श्रमिक जो गंभीर बीमारी से जूझ रहे है और आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण अपना इलाज नही करा पा रहे है. उन श्रमिको को सरकार द्वारा इलाज कराने के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी सरकारी/ स्वायत्तशासी चिकित्सालयों अथवा SACHIS के इम्पैनल्ड चिकित्सालयों में अलाज कराने पर आयुष्मान भरत योजना में देय हितलाभ के समतुल्य राशि पूर्ण प्रतिपूर्ति कि जाती है.

ऐसे श्रमिक जो प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना एवं मुख्यमन्त्री जन-आरोग्य योजना में हितलाभ हेतु पात्र नहो होगे. इस योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक तथा उसकी पति/ पत्नी, अविवाहित पुत्रियाॅं एवं 21 वर्ष से कम आयु के पुत्र सम्मिलित हैं गम्भीर बीमारी सहायता योजना का ऑनलाइन आवेदन करने और लाभार्थी लिस्ट में अपने नाम को ऑनलाइन देखने के लिए आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे – ऑनलाइन आवेदन करे

मृत्यु विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना:-

इस योजना को उत्तर प्रदेश ने सभी मजदूरो के लिए शुरू किया गया है इस योजना के अंतर्गत कार्यस्थल पर या अन्यत्र दुर्घटना के फलस्वरूप मृत्यु होने पर 5,00,000/- की धन राशि दी जाएगी और इसमें से 1 लाख खाते में भुगतान तथा शेष 4 लाख फ्क्सि डिपाजिट से देय होगा. कार्यस्थल पर दुर्घटना के कारण पूर्ण स्थायी विकलाँगता की दशा में 3 लाख, स्थायी आॅशिक अपंगता में 2 लाख देय होगे.

अपंजीकृत श्रमिक के कार्यस्थल पर घटित दुर्घटना में मृत्यु होने पर 50,000 की आर्थिक सहायता राशि दी जाएगी. साथ में दुर्घटना या किसी बीमारी के कारण पूर्ण अक्षम होने पर जीवनकाल तक 1500-1250-1000 की पेन्शन दी जाएगी श्रमिक मृत्यु विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे – ऑनलाइन आवेदन करे

अन्त्येष्टि सहायता योजना:- उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ

अन्त्येष्टि सहायता योजना को सरकार द्वारा प्रदेश के पंजीकर्त श्रमिक जिनकी मर्त्यु कार्यस्थल पर किसी दुर्घटना के कारण हो गई है उस मर्तक श्रमिक के परिवार को श्रमिक का धासंस्कार करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान कि जाती है जिसमे योजना के अन्तर्गत 25,000 रूपये की धनराशि मृतक के आश्रितों को प्रदान की जाती है

जिस श्रमिक के सन्दर्भ में हित लाभ का दावा किया जा रहा, वह बोर्ड में पंजीकृत हो तथा उसका अंशदान मृत्यु की तिथि पर प्रभावी हो इस योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिको को ऑनलाइन आवेदन करना है आपको अन्त्येष्टि सहायता योजना से समन्धित अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे – PDF Download

प0 दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना:-

निर्माण श्रमिकों के जागरूकता हेतु ऐसा आयोजन जो विशेष रूप से निर्माण श्रमिकों पर केन्द्रित होना चाहिए, जिसमें श्रम विभाग की पूर्ण सहभागिता हो तथा जिसमें जनपदस्तर पर श्रमिकों के पंजीयन एवं लाभ वितरण का कार्यक्रम आयोजित होना चाहिये, में सचिव, बोर्ड की पूर्व स्वीकृति के उपरान्त हुये व्यय की प्रतिपूर्ति का प्राविधान। आयोजनों में होने वाले व्यय की 25 प्रतिशत राशि अग्रिम भी दी जा सकती है मजदुर प0 दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना से समन्धित अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गये लिंक पर क्लिक करे – PDF Download

श्रमिक साइकिल सहायता योजना:-

उत्तर प्रदेश श्रमिक विभाग द्वारा प्रदेश के मजदूरो को साइकिल खरीदने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए साइकिल सहायता योजना को शुरू किया गया है बोर्ड द्वारा साइकिल क्रय हेतु 3000⁄– रूपये की धनराशि सब्सिडी के रूप में दी जाएगी बाकी धनराशि लाभार्थी श्रमिक द्वारा स्वंय दी जाएगी भविष्य में आवश्यकता पडने पर श्रमिक स्वयं उसका सत्यापन क्षेत्रीय कार्यालय से करवायेगा इस योजना का लाभ उन्ही श्रमिको को दिया जाता है

जिनका श्रमिक कार्ड बना हुआ है और श्रमिक कार्ड 6 महीने पुराना है वो सभी महिला श्रमिक और पुरुष श्रमिक योजना का आवेदन करके लाभ ले सकते है. श्रमिको को इस योजना का लाभ लेने के लिए बैंक खाता होना जरुरी है बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए साइकिल सहायता योजना का आवेदन करने के लिए आगे दिए गये लिंक पर क्लिक करे – ऑनलाइन आवेदन करे

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के फायदे का वीडियो देखें

उत्तर प्रदेश श्रमिक योजना हेल्पलाइन नंबर:-

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड के लाभ – आपको इस आर्टिकल में उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड से मजदूरो को मिलने वाली सभी योजनाओ के लाभ कि जानकारी को दिया गया है और साथ में आपको योजना का ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आगे लिंक दिया गया है जिस पर जाकर के आप श्रमिक कार्ड कि किसी भी योजना के लिए आवेदन कर सकते है अगर आप को उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड कि किसी भी योजना से समन्धित अधिक जानकारी चाहिए तो निचे दिए गये हेल्पलाइन नंबर से सम्पर्क कर सकते है – 1800-180-5412

Leave a Comment

%d bloggers like this: